टॉन्सिल होने पर लें ये होम्योपैथी की दवाएं

टॉन्सिल होने पर लें ये होम्योपैथी की दवाएं

होम्योपैथी मेें ऐसी कई दवाएं हैं जिससे टॉन्सिल होने पर फायदा मिलता है।

खाने-पीने में होती दिक्कत
बच्चों में टॉन्सिल की समस्या आम है। इसके कारण खाने-पीने में तो दिक्कत होती ही है। साथ ही उनकी ग्रोथ पर भी असर पड़ता है। होम्योपैथी मेें ऐसी कई दवाएं हैं जिससे फायदा मिलता है।
ये भी पढ़ें: बीमारियों से बचाव वाली दवाएं रिपीट करके लेनी होती हैं
कोई साइड इन्फेंट्स नहीं
होम्यापैथी की दवा का कोई साइड इन्फेंट्स नहीं होता है। इसका नियमित रूप से प्रयोग करने से बीमारी ठीक होती है। दवा को पोटेंसी के आधार पर लिया जाता है। दवा को विशेषज्ञ की सलाह पर लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें: पाइल्स, फिस्टुला और फिशर से पीड़ित है, तो ऐसे होता होम्योपैथी में इलाज
ये दवाएं हैं कारगर
टॉन्सिल होने पर बैराइटा कार्ब, सोरिनम, मेडोराइनम, बैसीलीनम, हीपर सल्फ्यूरिस, कैल्केरिया आयोडेटा व कैल्केरिया फ्लोरिका दवा दी जाती है। हालांकि विशेषज्ञ दवा मरीज के लक्षणों के आधार पर देते हैं। टॉन्सिल होने पर ठंडे, खट्टे व तैलीय आहार से परहेज करें।
डॉ. कमलेन्द्र त्यागी, होम्योपैथी विशेषज्ञ

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned