रात के अंधेंरे में तोड़ी शिलान्यास पट्टिका

पेयजल योजना का विरोध
पुलिस पहुंची मौके पर, विभाग ने शुरू कराया कार्य

By: sidharth shah

Published: 07 Jun 2018, 03:40 PM IST

धम्बोला. चाडोली में पेयजल समस्या के समाधान को लेकर स्वीकृत हुई पेयजल परियोजना का कार्य शुरू होने के साथ ही विवादों में आ गया। यहां मंगलवार से कार्य शुरू हुआ और लोगों ने जमीन को विवादित बताते हुए कार्य रूकवा दिया। यहीं नहीं रात के अंधेंरे में करीब डेढ़ माह पहले लगाई शिलान्यास पट्टिका भी तोड़ दी। यह कार्य बुधवार को पुलिस की मौजूदगी में शुरू हुआ।


शुरू होने के साथ ही विवाद
गांव में इस परियोजना के तहत मंगलवार को कुआं खुदाई का कार्य शुरू हुआ। कुछ ही देर में गांव के ही कुछ कतिपय लोगों ने निजी जमीन पर कुआं खोदने की दलील दी और कार्य को रूकवा दिया। इस पर अधिशासी अभियंता जयन्तीलाल ने इसकी सूचना पुलिस और प्रशासन को दी। बुधवार सुबह विभाग के अधिकारी के साथ तहसीलदार अशोक शाह, थानाधिकारी ब्रजेश कुमार भी मय दल मौके पर पहुंचे। यहां कुआं खुदाई वाली जमीन के रिकार्ड देखें तो पता चला कि यह कार्य बिलानाम जमीन पर ही हो रहा है। इस पर पुलिस की मौजूदगी में कुआं खुदाई का कार्य शुरू किया गया। यहां पूरे दिन पुलिस बल तैनात रहा।

हाथों-हाथ देखे रिकार्ड
थाना अधिकारी ब्रजेश कुमार ने बताया पूर्व सरपंच नानूराम रोत व कुछ लोगों ने नाले में कुआं खोदने से पानी का बहाव रुक जाने की बात कही। साथ भूमि अपना हक जताया था। पटवारी योगराज सिह ने सीमांकन कर बताया कि भूमि बिलानाम है। इसके बाद पुलिस व प्रशासन की मौजूदगी में जेसीबी लगाकर कुआं खुदाई का कार्य शरू करवाया गया। गौरतलब है कि पेयजल योजना के तहत चाडोली में एक करोड़ 43 लाख की राशि स्वीकृति हुई थी। देर शाम तक 20 फिट कुएं की खुदाई कर ली गई थी।

शिलान्यास पट्टिका ध्वस्त
इस परियोजना कार्य का शिलान्यास छह अप्रैल 2018 को राज्यमंत्री सुशील कटारा ने किया था। इस पट्टिका को रात में तोड़ दिया है। पुलिस को मौके पर टूटी शिलान्यास पट्टिका मिल गई। सीमलवाड़ा चौकी प्रभारी दिलीपसिंह शक्तावत, झौथरी से नारायणसिंह, पाडली से महिपालसिंह, सरथुना से मनोहरसिंह और पीठ से गंभीर सिह मय जब्ता तैनात थे। मामले में पुलिस कार्रवाई की जा रही है।

sidharth shah Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned