कैदी के शव का पंचनामा हुआ, परिजन को मौत पर संदेह

कैदी के शव का पंचनामा हुआ, परिजन को मौत पर संदेह

Naresh Verma | Publish: Mar, 30 2018 09:09:11 AM (IST) | Updated: Mar, 30 2018 12:16:24 PM (IST) Durg, Chhattisgarh, India

दुष्कर्म के मामले में जसा काट रहे राजनांदगांव जिले के मानपुर निवासी दुर्गा राम धु्रवे (४८ वर्ष) की मौत पर उसके परिजन ने संदेह व्यक्त किया है।

दुर्ग . दुष्कर्म के मामले में जसा काट रहे राजनांदगांव जिले के मानपुर निवासी दुर्गा राम धु्रवे (४८ वर्ष) की मौत पर उसके परिजन ने संदेह व्यक्त किया है। परिजन का कहना है कि उन्हें सूचना १५ घंटा विलंब से दी गई है। अगर स्वभाविक मौत थी तो छिपाने की जरुरत ही नहीं थी। परिजन के सामने हुई पंचनामा कार्रवाई में शरीर पर किसी तरह का चोट नहीं पाया गया।

एक दिन बाद मौत की सूचना क्यों दी
मृतक कैदी के परिजन गुरुवार को शाम ४.३० बजे दुर्ग पहुंचे। मृतक की पत्नी समेत दर्जन भर रिश्तेदार भी साथ में आए थे। परिजनों ने बताया कि उन्हें सूचना सुबह ११ बजे मिली। तब वे महुआ बीनने जंगल गए हुए थे। मृतक के भाई अर्जुन सिंह व मोतीराम धु्रर्वे ने कहा कि यहां आने पर मालूम हुआ कि दुर्गा धु्रर्वे की मौत शाम ७ बजे हुई। एक दिन बाद सूचना देना उनकी समझ से परे है।

मामाला नाबालिग से छेडख़ानी का
दुर्गाराम धु्रवे को न्यायालय ने नाबालिग से छेडख़ानी का दोषी पाया था। उसे १० वर्ष कारावास की सजा सुनाई थी। मृतक के परिवारिक सदस्यों ने बताया कि मामला थाना पहुंचने से पहले गांव के पंचायत में फैसला हो गया था। आरोपी को दंण्डित किया गया था। दोनों पक्षों में सुलह हो गई थी। इसके बाद भी नाबालिग के मामा पक्ष ने गांव के पंचायत में हुए फैसले को नजर अंदाज कर दुर्गा के खिलाफ अपराध दर्ज कराया। दुर्गा अपनी पहली पत्नी को त्याग दूसरी पत्नी के साथ रह रहा था। उसकी पहली पत्नी के दो बच्चे हैं।

नायब तहसीलदार ने किया पंचनामा
शव का पंचनामा नायब तहसीलदार चंद्रशेखर उज्जवने ने किया। पंचनामा के बाद उन्होंने पोस्टमार्टम डॉक्टरों की टीम व पूरी प्रक्रिया की वीडियो ग्राफी कराने कराने के निर्देश दिए। शव का पोस्टमार्ट शुक्रवार सुबह कर परिजनों को सौंपा जाएगा।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में होगा खुलासा
केंद्रीय जेल दुर्ग के अधीक्षक योगेश क्षत्रिय ने बताया कि मौत की क्या वजह थी यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने से खुलासा होगा। रही देरी से सूचना देने की बात तो हम लोगों ने घटना के तत्काल बाद मानपुर थाना जिला राजनादगांव को सूचना दे दी थी। मानपुर पुलिस ने सूचना देने में क्यों विलंब किया इसकी वजह वे ही बता सकते हैं।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned