scriptये कश्मीर नहीं छत्तीसगढ़ है, जहां दिवाली के पहले फूलों के खेत हुए गुलजार, बाजार में हमारे गेंदे की बहार से खिले किसानों के चेहरे | faces of farmers blossomed due to the cultivation of marigold in CG | Patrika News

ये कश्मीर नहीं छत्तीसगढ़ है, जहां दिवाली के पहले फूलों के खेत हुए गुलजार, बाजार में हमारे गेंदे की बहार से खिले किसानों के चेहरे

इन खेतों से हर दिन 4 से 5 क्विंटल सुनहरे गेंदे के फूल बाजार में पहुंच रहा है। त्योहार में यह डिमांड दोगुने यानि 8 से 10 क्विंटल प्रतिदिन तक पहुंचने की उम्मीद है।

दुर्ग

Published: October 31, 2021 12:08:50 pm

ये कश्मीर नहीं छत्तीसगढ़ है, जहां दिवाली के पहले फूलों के खेत हुए गुलजार, बाजार में हमारे गेंदे की बहार से खिले किसानों के चेहरे
ये कश्मीर नहीं छत्तीसगढ़ है, जहां दिवाली के पहले फूलों के खेत हुए गुलजार, बाजार में हमारे गेंदे की बहार से खिले किसानों के चेहरे

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Group Sites

Top Categories

Trending Topics

Trending Stories

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.