शिवनाथ पंप हाउस का ट्रांसफार्मर जला आठ घंटे मरम्मत की

आठ दिन में यह दूसरी बार है,जब पंप हाउस में खराबी के कारण पेयजल सप्लाई बाधित रही। निगम द्वारा ट्रांसफार्मर में सुधार के बाद पेयजल सप्लाई का प्रयास किया गया।

By: Naresh Verma

Published: 24 Jul 2018, 12:51 AM IST

दुर्ग . नगर निगम के शिवनाथ स्थित पंप हाउस का ट्रांसफार्मर का रविवार की रात जल गया। इससे शिवनाथ से पानी सप्लाई बाधित हो गई और टंकियां नहीं भरी जा सकी। इस कारणरविवार की सुबह पूरे शहर में जल आपूर्ति नहीं हुई। आठ दिन में यह दूसरी बार है,जब पंप हाउस में खराबी के कारण पेयजल सप्लाई बाधित रही। निगम प्रशासन द्वारा ट्रांसफार्मर में सुधार के बाद रविवार की शाम टंकियों को भरने और पेयजल सप्लाई का प्रयास किया गया, लेकिन इसमें वांछित सफलता नहीं मिली। शहर के कई हिस्सों में शाम को भी पानी नहीं पहुंचाया जा सका। इससे पहले 14 जुलाई को इंटकवेल में कचरा फंस जाने के कारण टंकियां नहीं भर पाई थी। इससे भी पानी सप्लाई नहीं हो सकी थी। अफसरों के मुताबिक मंगलवार की सुबह सप्लाई सामान्य हो जाएगी।

सुबह पूरे शहर, शाम को 15 वार्डों में सप्लाई नहीं

टंकियों के नहीं भरने के कारण सोमवार की सुबह पूरे शहर में पेयजल सप्लाई नहीं हो पाई। वहीं सुधार के बाद शाम को आधी टंकियों को भरा जा सका। इससे शहर के मध्य इलाके में पानी सप्लाई हो पाई। वहीं जीई मार्ग के दूसरे छोर कसारीडीह, पद्मनाभपुर सहित 15 वार्डों में शाम को भी पानी नहीं मिला।

टंकियों को भरने के दौरान आई खराबी

निगम के अफसरों के मुताबिक ट्रांसफार्मर के डीओ में रविवार की शाम साढ़े 7 बजे खराबी आई। इस दौरान टंकियों को भरा जा रहा था। डीओ जलने के कारण शिवनाथ से फिल्टर प्लांट में सप्लाई बंद हो गया। इसके कारण टंकियां भी नहीं भरी जा सकी। शहर की सभी टंकियों को भरने में 7 घंटे लगता है।

गड़बड़ी के बाद रात में ही शुरू की मरम्मत

ट्रांसफार्मर की खराबी को ठीक करने में निगम के अधिकारियों को 8 घंटे से ज्यादा मशक्कत करना पड़ा। गड़बड़ी के तत्काल बाद रात में सुधार का काम शुरू किया गया, लेकिन अंधेरे में सुधार संभव नहीं हुआ। इसके बाद सुबह 7 बजे फिर काम शुरू किया गया। दोपहर 3 बजे सुधार के बाद टंकियों को भरना शुरू किया गया।

सुबह सामान्य होगी पानी सप्लाई

इस संबंध में जलगृह विभाग के प्रभारी अधिकारी आरके जैन ने बताया कि खराबी का पता चलने के बाद रात 12 बजे तक सुधार का प्रयास किया गया, लेकिन सफलता नहीं मिली। सुबह से कर्मचारी लगाकर सुधार किया गया। इसके तत्काल बाद टंकियों को भरकर यथा संभव पानी पहुंचाने का प्रयास किया गया। टंकिया पर्याप्त नहीं भरने से समस्या रही। मंगलवार की सुबह सप्लाई सामान्य हो जाएगी।

Naresh Verma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned