कृष्ण को इस ​ऋषि ने दिया था श्राप, जानें उनकी मृत्यु से जुड़े ये 10 रहस्य

कृष्ण को इस ​ऋषि ने दिया था श्राप, जानें उनकी मृत्यु से जुड़े ये 10 रहस्य

Soma Roy | Updated: 24 Aug 2019, 03:51:43 PM (IST) दस का दम

  • janmashtami 2019 : श्रीकृष्ण ने अर्जुन और सुभद्रा की शादी कराने को रचा था षडयंत्र
  • कान्हा की करीब 16000 पत्नियां थीं

नई दिल्ली। पूरे भारत में कृष्ण जन्माष्टमी की धूम है। लोग नंद लाल के स्वागत को बेचैन हैं। इस मौके पर हम आपको भगवान कृष्ण से जुड़ी कुछ ऐसी बातों के बारे में बताएंगे, जिनके बारे में शायद ही आपको पता होगा। इसमें उनकी मृत्यु का रहस्य भी शामिल है।

1.पौराणिक धर्म ग्रथों के अनुसार श्रीकृष्ण की मृत्यु उनके जीवन में कई अभिशापों की वजह से हुई। बताया जाता है ऋषि दुर्वासा ने कृष्ण को श्राप दिया था। क्योंकि उन्होंने अपने पैरों पर खीर लगाने से मना कर दिया था।

2.गांधारी ने भी श्रीकृष्ण को श्राप दिया था। क्योंकि कान्हा ने उनके 100 पुत्रों की हत्या की थी।

3.कृष्ण को शिकारी जारा के एक तीर से मारा गया था, जिसने कृष्ण के पैर को हिरण का शरीर माना था। कृष्ण इस दौरान जंगल में आराम कर रहे थे।

4.कृष्ण की लगभग 16000 पत्नियां थीं। जबकि उनकी मुख्य पत्नियाँ आठ थीं। हालाँकि वह राधा के बहुत करीब थे।

5.भगवान कृष्ण के 80 पुत्र थे। राधा से कान्हा ने शादी नहीं की थी। मगर इनके बिना कान्हा की पूजा अधूरी रहती है।

gopala.jpg

6.श्रीकृष्ण ने अर्जुन और सुभद्रा का विवाह कराने के लिए साजिश रखी थी। उन्होंने अर्जुन को सुभद्रा का अपहरण करने की सलाह दी थी।

7.कृष्ण कर्ण की असली पहचान जानते थे और यह भी जानते थे कि उनका झुकाव कौरवों के लिए लड़ने की ओर था।

8. भगवान कृष्ण मातृ पक्ष से पांडवों से रिश्ता रखते थे। क्योंकि पांडव राजकुमारों की माता कुंती, वासुदेव की बहन थीं।

9.कृष्ण ने अपने गुरु संदीपनी के बेटे को पुनर्जीवित करके गुरु दक्षिणा लौटाई थी।

10.श्रीकृष्ण, वासुदेव और देवकी के आठवें पुत्र थे। वासुदेव के पहले छह बच्चों को कृष्ण के मामा कंस ने मार दिया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned