Birthday Special: पेड़ों से बातें किया करते थे सिंगर किशोर कुमार, पढ़ें उनकी ज़िंदगी के ये 10 दिलचस्प किस्से

  • आज मशहूर गायक किशोर कुमार का जन्मदिन है ( Kishore Kumar Brithday )
  • किशोर कुमार ने बॉलीवुड संगीत को दी थी नई दिशा
  • किशोर दा के गाने आज भी लोगों के दिलों पर करते हैं राज

By: Shivani Singh

Updated: 04 Aug 2019, 03:56 PM IST

नई दिल्ली। 'मेरे सामने वाली खिड़की में, मेरे सपनों की रानी और आते जाते खूबसूरत आवारा शहरों की' जैसे कई बेहतरीन गीत गाने वाले बॉलीवुड के मशहूर सिंगर किशोर कुमार ( Kishore Kumar Brithday ) का आज जन्म दिन है। आज वह भले हमारे बीच नहीं है। लेकिन उनकी आवाज हमारे बीच उनके होने का एहसास दिलाती है।

किशोर दा के गाने आज भी लोगों के दिलों पर राज करते हैं। लोग अक्सर उनके गाने गुनगुनाते नजर आते हैं। आइए जानते हैं किशोर कुमार की जिंदगी से जुड़ी ये 10 खास बातें-

यह भी पढ़ें-साल 2012 में अंधेरे में डूब गए थे देश के 20 राज्य, पावर कट की ये थी 10 बड़ी वजह

1. किशोर कुमार का जन्म 4 अगस्त 1929 को मध्य प्रदेश के खंडवा शहर में हुआ था। पहले उनका नाम अभास कुमार गांगुली था। लेकिन बॉलीवुड में आने के बाद उन्होंने अपना नाम बदलकर किशोर कुमार रख लिया था।

2.अभिनेता अशोक कुमार किशोर कुमार के सबसे बड़े भाई थे। अशोक कुमार से छोटी उनकी बहन और उनसे छोटा एक भाई अनूप कुमार था।

3. किशोर दा ने बॉलीवुड इंटस्ट्री में बतौर एक्टर एंट्री की थी। उनकी पहली फिल्म 'शिकारी' थी जो 1946 में रिलीज हुई थी। उन्हें पहली बार 1948 में देव आनंद की फिल्म 'जिद्दी' में गाने का मौका मिला।

 

kishore

4. वह मनमौजी स्वाभाव के थे। वह कभी भी सार्वजनिक मंच पर या किसी समारोह में कार्यक्रम प्रस्तुत करते तो गर्व के साथ अपने शहर खंडवा का नाम लेते थे।

5. किशोर कुमार अपने गानों से तो चर्चा में थे ही लेकिन अपनी निजी जिंदगी को लेकर भी अक्सर वे सुर्खियां में रहते थें। उन्होंने 4 शादियां ( kishore kumar marriage ) की थी। उनकी पहली शादी रुमा देवी से हुई थी। दूसरी शादी मधुबाला, तीसरी योगिता बाली और चौथी और आखिरी शादी लीना चंद्रावरकर से हुई थी।

6. 'मेरे सपनों की रानी और 'रूप तेरा मस्ताना' जैसे गानों ने लोगों को उनका दीवाना बना दिया था। 'रूप तेरा मस्ताना' के लिए किशोर कुमार को बतौर गायक ( Kishore Kumar songs ) पहला फिल्म फेयर अवॉर्ड मिला था।

7. किशोर कुमार और पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी से जुड़ा एक किस्सा काफी चर्चीत है। ऐसा कहा जाता है कि एक बार इंदिरा गांधी सरकार की तरफ से उन्हें गाने का ऑफर आया था। जिसमें उन्हें इंदिरा गांधी के इमरजेंसी के 20 सूत्री प्रोग्राम के लिए बनाए गाने को अपनी आवाज देने को कहा गया था। उन्होंने गाना गाने से मना कर दिया था। जिसके बाद किशोर कुमार के गानों पर बैन लगा दिया गया था।

8. किशोर कुमार मजाकिया होने के साथ बात-बात पर चिढ़ भी जाते थे। उन्होंने अपने फ्लैट के दरवाजे पर 'किशोर से सावधान' का बोर्ड लगा रहा था। एक बार प्रोड्यूसर-डायरेक्टर एच एस रवैल उनके घर कुछ पैसे देने आए थे। उन्होंने उनसे हाथ मिलाते समय उन्हें काट लिया था।

 

kishrore

9. किशोर कुमार ( Kishore Kumar life story ) के काफी सीमित दोस्त थे। 1985 में दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि वह दोस्त बनाने के बजाय पेड़ों से बात किया करते थे।

यह भी पढ़ें-सावन के मंगलवार को गलती से भी न करें ये 10 काम, झेलना पड़ सकता है बजरंगबली का क्रोध

10. 1987 में किशोर कुमार ने फिल्मों से संन्यास लेने का मन बना लिया था। उन्होंने सोचा था कि वह अपने गांव खंडवा लौट जाएंगे। लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। 13 अक्टूबर 1987 को उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वह इस दुनिया से चले गए।

Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned