शनिवार को दाहिने हाथ में बांध लें धतूरे की जड़, मिलेगा शनि दोष से छुटकारा

शनिवार को दाहिने हाथ में बांध लें धतूरे की जड़, मिलेगा शनि दोष से छुटकारा

Soma Roy | Publish: Apr, 20 2019 09:56:01 AM (IST) दस का दम

  • शनिवार के दिन काले कुत्ते को रोटी खिलाने से शनि का प्रकोप शांत होता है
  • बुद्धि के विकास के लिए भोजपत्र पर अनार की कलम से एक खास मंत्र लिखें

नई दिल्ली। कई लोगों की कुंडली में शनि दोष होता है। इसके चलते व्यक्ति की तरक्की प्रभावित होती है। उसे मनचाहा परिणाम नहीं मिल पाता है। साथ ही दूसरे कामों में भी बाधाएं आती रहती हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए शनिवार के दिन धतूरे की जड़ धारण करना, साथ ही कुछ अन्य उपाय करने से शनि के प्रकोप से बचा जा सकता है।

शुक्रवार की शाम को करें लाल चंदन का ये टोटका, जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपा

1. ज्योतिष शास्त्री कमल नारायण त्रिपाठी के मुताबिक जिन लोगों की कुंडली में शनि अशुभ स्थिति में है। वे शनि दोष से छुटकारा पाने के लिए शनिवार के दिन अपने दाहिने हाथ में धतूरे की जड़ बांधे। इसे काले कपड़े या धागे में लपेटकर धारण करें।

2.सात मुखी रुद्राक्ष शनि ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है इसलिए शनिवार को इसे धारण करने से शनि ग्रह से पीड़ित व्यक्ति को लाभ होता है।

3.शनि दोष से मुक्ति पाने के लिए शनिवार के दिन छाया दान करना भी अच्छा होता है। इसके लिए मिट्टी के किसी बर्तन में सरसों का तेल भरकर उसमें अपना चेहरा देखें। अब इसे किसी शनि मंदिर में चढ़ा दें। इससे शनि का नकारात्मक प्रभाव कम होगा।

4. शनि देव को प्रसन्न करने के लिए ॐ शं नो देवीरभिष्टय आपो भवन्तु पीतये। शं योरभि स्रवंतु नः! मंत्र का जाप भी शुभ माना जाता है। इसे करीब 108 बार पढ़ें। ऐसा करने से आपके काम बनने लगेंगे।

5.शनिवार को काले कुत्ते, काली गाय को रोटी और काली चिड़िया को दाना खिलाने से भी शनि के नकारात्मक प्रभाव से बचा जा सकता है।

देश पर संकट आते ही रंग बदल देता है इस कुंड का पानी, ऐसे लगाते है अनहोनी का पता

6.शनि देव को प्रसन्न करने और अपनी किस्मत को तेज बनाने के लिए शनिवार के दिन पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं।

7.शनिवार की शाम को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीया जलाने से भी शनि दोष कम होता है। ऐसा नियमित रूप से करने पर काम में आ रही अड़चनें भी दूर होंगी।

8.शनि के प्रकोप को शांत करने के लिए शनिवार के दिन काले घोड़े की नाल से बना छल्ला पहनें। इससे आपके काम बनने लगेंगे।

9.शनिवार रात को अनार की कलम के द्वारा रक्त चन्दन से किसी भोजपत्र पर 'ॐ ह्वीं' मंत्र को लिखने और रोजाना इसे धूप-दीप दिखाने से व्यक्ति की बुद्धि का विकास होगा।

10.अगर किसी की कुंडली में शनि की साढ़े साती चल रही हो तो प्रत्येक शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करना भी शुभ माना जाता है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned