Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan: 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान' में कैसे मिलेगा काम? जानिए सब कुछ

-Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( PM Modi ) ने शुक्रवार, 26 जून को 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान' की शुरुआत की।
-आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान के तहत एक करोड़ से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को रोजगार ( Employment for Migrant Workers ) उपलब्ध कराया जाएगा।
-आइए जानते हैं अभियान से जुड़ी मुख्य बातें ( How To Get Employment in Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan )

By: Naveen

Updated: 27 Jun 2020, 11:19 AM IST

नई दिल्ली।
Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( pm modi ) ने शुक्रवार, 26 जून को 'आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान' की शुरुआत की। आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान के तहत एक करोड़ से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को रोजगार ( Employment for Migrant Workers ) उपलब्ध कराया जाएगा। 125 दिनों के आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान में 6 राज्यों में 116 जिलों से लौटे मजदूरों को रोजगार दिया जाएगा। इस अभियान में 25 तरह के अलग-अलग काम रहेंगे, जिनमें मजदूर-कामगार काम करेंगे। सरकार ने इस अभियान के लिए 50,000 करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है।

आइए जानते हैं अभियान से जुड़ी मुख्य बातें ( How To Get Employment in Atma Nirbhar Uttar Pradesh Rojgar Abhiyan )

atma_nirbhar_uttar_pradesh_rojgar_abhiyan_01.jpg
  • गरीब कल्याण रोजगार अभियान में उत्तर प्रदेश के 31 जिलों की करीब 32,300 ग्राम पंचायतों को शामिल किया गया है। इन जिलों में गोरखपुर, सिद्धार्थनगर, बस्ती, प्रयागराज, सुलतानपुर, गोंडा, महराजगंज, बहराइच, बलरामपुर, जौनपुर, हरदोई, प्रतापगढ़, रायबरेली, आजमगढ़, कुशीनगर, संतकबीरनगर, बांदा, अम्बेडकरनगर, सीतापुर, वाराणसी, गाजीपुर, अयोध्या, देवरिया, अमेठी, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, श्रावस्ती, फतेहपुर, मीरजापुर, जालौन और कौशाम्बी शामिल हैं।
  • करीब 30 लाख से ज्यादा प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से उत्तर प्रदेश लौटे हैं। अभियान के तहत सभी मजदूरों को काम देने के लिए स्किल मैपिंग की गई है। यानी मजदूरों के काम के आधार पर उन्हें रोजगार दिया जाएगा।
  • जैसा कि इस अभियान में अलग-अलग तरह के काम होंगे। इसमें कन्स्ट्रक्शन से जुड़े, रियल स्टेट से जुड़े, प्लंबिंग, सिक्योरिटी गार्ड, टेलरिंग का काम करने वाले, हस्तकला, कूरियर, सेल्समैन जैसे कामगार हैं।
  • इस अभियान में प्रवासी मजदूरों के अलावा स्थानीय मजदूरों-कामगारों को भी शामिल किया गया है। सरकार का कहना है कि उत्तर प्रदेश लौटे लोगों को अलग-अलग काम से जोड़ भी दिया गया है।
  • उत्तर प्रदेश सरकार ने इस अभियान में महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी अधिनियम (मनरेगा) और छोटे उद्योग ( MSMEs ) को भी शामिल किया है।
  • आत्मनिर्भर उत्तर प्रदेश रोजगार अभियान में रोजगार पाने के लिए आपको आवेदन करना होगा। इसके लिए आप स्थानीय प्रशासन से संपर्क कर सकते हैं। आवेदन के बाद स्किल मैपिंग होगी, यानी काम के आधार पर आपके रोजगार दिया जाएगा।
pm modi प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned