रिकॉर्ड स्तर से कम हुई भारत की विदेशी दौलत, दो महीने बाद आई बड़ी गिरावट

  • 27 नवंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार में 46.90 करोड़ डॉलर की गिरावट
  • विदेशी मुद्रा भंडार गिरावट के बाद 574.82 अरब डॉलर पर पहुंचा, विदेशी परिसंपत्ति में वृद्धि

By: Saurabh Sharma

Updated: 06 Dec 2020, 10:14 AM IST

नई दिल्ली। देश के विदेशी मुद्रा भंडार में लगातार आठ सप्ताह की तेजी के बाद गिरावट देखने को मिली है। 27 नवंबर को समाप्त सप्ताह में गिरावट दर्ज की गई। जिसके बाद भारत की विदेशी दौलत में 46.90 करोड़ डॉलर की कमी देखने को मिली। जबकि स्वर्ण भंडार में गिरावट देखने को मिली है, जोकि इकोनॉमी के लिए अच्छे संकेत नहीं है। वहीं दूसरी ओर विदेशी परिसंपत्ति में इजाफा देखने को मिला है। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर आरबीआई की ओर से किस तरह के आंकड़े पेश किए हैं।

यह भी पढ़ेंः- दिसंबर शुरू होते ही सोना और चांदी के दाम में बेहिसाब इजाफा, जानिए कितना हुआ महंगा

दो महीने बाद देखने को मिली गिरावट
27 नवंबर को समाप्त सप्ताह में भारत की विदेशी दौलत में 46.90 करोड़ डॉलर की कमी आने के बाद घटकर 574.82 अरब डॉलर पर आ गया हैं। भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के अनुसार इससे पहले 20 नवंबर को समाप्त सप्ताह में लगातार आठवें सप्ताह तेजी दर्ज कर विदेशी मुद्रा भंडार 2.52 अरब डॉलर बढ़कर रिकॉर्ड 575.29 अरब डॉलर पर पहुंच गया था।

यह भी पढ़ेंः- देश में 80 रुपए के पार हुआ डीजल, पेट्रोल की कीमत 90 रुपए से ज्यादा

परिसंपत्ति में इजाफा, स्वर्ण भंडार में कमी
केंद्रीय बैंक ने आज बताया कि 27 नवंबर को समाप्त सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार का सबसे बड़ा घटक विदेशी मुद्रा परिसंपत्ति 35.2 करोड़ डॉलर की वृद्धि के साथ 533.45 अरब डॉलर पर पहुँच गया। स्वर्ण भंडार हालांकि 82.20 करोड़ डॉलर की तेज गिरावट के साथ 35.19 अरब डॉलर हो गया। अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के पास आरक्षित निधि 10 लाख डॉलर घटकर 4.68 अरब डॉलर हो गयी जबकि विशेष आहरण अधिकार 20 लाख डॉलर बढ़कर 1.49 अरब डॉलर पर पहुंच गया।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned