औद्योगिक उत्पादन सूचकांक ने दी राहत, मई में 3.2 फीसदी की बढ़त

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक ने दी राहत, मई में 3.2 फीसदी की बढ़त

Manoj Kumar | Publish: Jul, 12 2018 07:33:30 PM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

औद्योगिक उत्पादन सूचकांक में मई में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 3.2 फीसदी की बढ़त रही है।

नई दिल्ली। चुनावी साल में लग रहे झटकों के बीच मोदी सरकार के लिए एक राहत भरी खबर आई है। खुदरा महंगाई दर बढ़ने के बाद भी ‘औद्योगिक उत्पादन सूचकांक’ (आईआईपी) में बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। देश के उद्योगों की धडक़न मापने वाला ‘औद्योगिक उत्पादन सूचकांक’ (आईआईपी) में मई में पिछले वर्ष की इसी अवधि की तुलना में 3.2 फीसदी की बढ़त रही है। यह अक्टूबर 2017 के बाद का निचला स्तर है। सरकार की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, चालू वित्त वर्ष के अप्रैल से मई की अवधि में आईआईपी की वृद्धि दर 4.0 फीसदी दर्ज की गई है। मई 2017 में यह आंकड़ा 2.9 फीसदी रहा था।

इन क्षेत्रों में रही तेजी

आलोच्य माह में आईआईपी में शामिल 23 उद्योग समूहों में 13 में सकारात्मक वृद्धि हुई है। मई 2018 के दौरान खनन में 5.7 फीसदी, विनिर्माण में 2.8 फीसदी और बिजली उत्पादन में 4.2 फीसदी की तेजी आई है। चालू वित्त वर्ष में अभी तक खनन में 4.9 फीसदी, विनिर्माण में 4.0 फीसदी और बिजली उत्पादन में 3.1 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। आंकड़ों के अनुसार, मई में कम्प्यूटर, इलेक्ट्रोनिक एवं ऑप्टिकल उत्पाद समूह के उत्पादन में सर्वाधिक 27.0 फीसदी की तेजी आई है। मोटर वाहन, ट्रेलर एवं सेमी ट्रेलर उत्पादन समूह 21.1 फीसदी की वृद्धि के साथ दूसरे स्थान पर रहा है। फर्नीचर उत्पादन समूह में 13.2 फीसदी की वृद्धि हुई है। यह तीसरे स्थान पर रहा है। अन्य उत्पादन समूह में सर्वाधिक गिरावट 31.9 फीसदी दर्ज की गई है। तंबाकू उत्पाद समूह में 12.8 फीसदी और परिधान में 12.8 फीसदी की कमी आई है।

खुदरा महंगाई दर 5 फीसदी पर पहुंची

ईंधन तथा आवास महंगे होने से जून में उपभोक्ता मूल्य आधारित मुद्रास्फीति की दर यानी खुदरा महंगाई बढ़कर पांच फीसदी पर पहुंच गई है। खुदरा महंगाई लगातार तीसरे महीने बढ़ी है और यह इसका इस साल जनवरी (5.07 फीसदी) के बाद का उच्चतम स्तर है। खास बात यह है कि खाद्य पदार्थों की महंगाई दर में कमी के बावजूद जून में इसका ग्राफ ऊपर गया है जो सरकार के लिए चिंता की बात हो सकती है। खाद्य खुदरा महंगाई दर 2.91 फीसदी दर्ज की गई है जो मई में 3.10 फीसदी रही थी। पिछले साल जून में सामान्य खुदरा महंगाई दर 1.46 फीसदी और इस साल मई में 4.87 फीसदी रही थी।

ये भी पढ़ें--

-- मुकेश अंबानी की धुन पर नाचा शेयर बाजार, इन लोगों को हुअा 40411 करोड़ रुपए का फायदा

-- 470 रुपये सस्ती हुर्इ चांदी, साेने के भाव में भी 140 रुपये की कमी

-- Forbes ने जारी की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिलाअों की लिस्ट, काइली जेनर के साथ दो भारतीयों को भी जगह

-- कम नहीं हो रहीं सहारा की मुश्किलें, नहीं मिला एंबी वैली का खरीदार

Ad Block is Banned