सैलरी ना मिलने पर नाराज हुए जेट एयरवेज के पायलट्स, दे डाली ये चेतावनी

वैसे तो जेट एयरवेज ग्राहकों के लिए कई ऑफर लेकर आ रही हैं। लेकिन जेट एरवेयज जहां ग्राहकों के लिए आकर्षक ऑफर लेकर आ रही हैं वहीं दूसरी तरफ अपने ही कर्मचारीयों को सैलरी नहीं दे रही हैं।

By: manish ranjan

Updated: 08 Sep 2018, 09:37 AM IST

नई दिल्ली। वैसे तो जेट एयरवेज ग्राहकों के लिए कई ऑफर लेकर आ रही हैं। लेकिन जेट एरवेयज जहां ग्राहकों के लिए आकर्षक ऑफर लेकर आ रही हैं वहीं दूसरी तरफ अपने ही कर्मचारीयों को सैलरी नहीं दे रही हैं। वेतन भुगतान ना करने पर जेट एयरेवज के पायलटों और इंजिनियरों ने मैनेजमेंट को चेतावनी देते हुए कहा है की सैलरी में देरी से काम पर असर पड़ सकता है। वो असहयोग का रवैया अपना सकते हैं।

जेट एयरेवज के पायलट करने जा रहे ये काम
वित्तीय समस्याओं से जूझ रही जेट एयरेवज ने पायलटों और इंजिनियरों के वेतन भुगतान में लगातार दूसरे महीने देरी की है और इसके चलते पायलटों ने भुगतान में चूक को लेकर प्रबंधन के साथ असहयोग की चेतावनी दी है। नरेश गोयल की निजी एयरलाइन्स जेट एयरवेज नकदी संकट से जूझ रही है। कंपनी को लगातार दो तिमाही में नुकसान हुआ है।

ये है पायलटों की मांग
तो वहीं दूसरी तरफ पायलटों का कहना है कि मैनेजमेंट इस बात पर राजी हुआ था कि वेतन में देरी नहीं होगी। अगर, ऐसा होगा तो पहले ही बता दिया जाएगा। लेकिन, इन दोनों शर्तों का उल्लंघन किया। पायलटों ने मांग रखी कि पिछले तीन महीने में कंपनी में जो गैर-जरूरी समितियां बनाई गईं, उन्हें भंग किया जाए। महंगे कर्मचारियों की भर्ती तुरंत रोकी जाए। पायलटों ने पिछले महीने सीईओ को पत्र लिखकर गैर-जरूरी खर्चों में बढ़ोतरी पर भी नाराजगी जताई।

जेट एयरवेज का घाटा बढ़ता जा रहा
जून में एयरलाइंस ने सैलरी में 25% कटौती का प्रस्ताव रखा। लेकिन, पायलट यूनियन के विरोध के बाद प्रस्ताव वापस लेना पड़ा। अप्रैल-जून तिमाही में जेट एयरवेज को 1,323 करोड़ रुपए का घाटा हुआ। जनवरी-मार्च में 1,036 करोड़ का नुकसान हुआ था। हवाई ईंधन महंगा होने, डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट और सस्ते टिकटों के कंपीटीशन की वजह से एयरलाइंस पर दबाव बढ़ा।

 

 

 

 

 

Show More
manish ranjan Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned