विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में बीते पांच साल में 60 फीसदी का इजाफा

विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में बीते पांच साल में 60 फीसदी का इजाफा

Saurabh Sharma | Updated: 25 Jun 2019, 09:09:27 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

विलफुल डिफॉल्टर्स (willful defaulter) की संख्या में बारे में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) की ओर से एक सवाल के जवाब में संसद में जानकारी दी गई थी।

नई दिल्ली। विलफुल डिफॉल्टर्स ( willful defaulter ) की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। संसद ( parliament ) में दी गई जानकारी के अनुसार पिछले पांच साल में विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में करीब 60 फीसदी का इजाफा हुआ है। एक लिखित जवाब में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ( Nirmala Sitharaman ) की ओर से जवाब दिया गया कि बीते पांच साल में विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में लगातार इजाफा हुआ है। वहीं विलफुल डिफॉल्टर्स पर कार्रवाई करने के अलावा उनसे वसूली भी की गई है।

बीते सालों का कुछ ऐसा है लेखा जोखा
निर्मला सीतारमण द्वारा दिए लिखित जवाब के अनुसार विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में पिछले पांच सालों में मार्च 2019 तक 60 फीसदी से भी ज्यादा बढ़कर 8,582 हुई है। सीतारमण के जवाब के अनुसार 2014-15 में विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या 5,349 थी। जबकि वित्त वर्ष 2015-16 में यह आंकड़ा 6,575 तक पहुंच गया। वहीं वित्त वर्ष 2016-17 में 7,079 और वित्त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 7,535 पर पहुंच गया। वित्त मंत्री के अनुसार इसकी संख्या में लगातार इजाफा हुआ है।

यह भी पढ़ेंः- माइक पोम्पियो के दौरे से पहले हुवावे का बड़ा बयान, दबाव में कोई फैसला ना ले भारत

बीते पांच सालों में विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में इजाफा

वित्त वर्ष विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या
2014-15 5,349
2015-16 6,575
2016-17 7,079
2017-18 7,535
2018-19 8,582

यह हुई कार्रवाई
बीते पांच साल में विलफुल डिफॉल्टर्स पर कार्रवाई की बात करें तो ऐसे डिफॉल्टर्स से 7,654 करोड़ रुपए की रकम वसूली गई है। बैंकों द्वारा दिए आंकड़ों की मानें तो वित्त वर्ष 2018-19 तक वसूली के 8,121 मामले लंबित थे। वहीं दूसरी ओर सिक्यॉर्ड ऐसेट्स मामलों में 6,251 केसों में सारफेसी एक्ट में कार्रवाई शुरू हुई है। वहीं आरबीआई निर्देशों के अनुसार 2,915 मामलों में एफआईआर दर्ज भी की गई है। आपको बता दें कि देश में मौजूदा समय में 17 सरकार बैंक हैं।

यह भी पढ़ेंः- Petrol-Diesel Price Today: दो दिन के बाद पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का सिलसिला थमा

हो रही है कार्रवाई
संसद में दिए निर्मला सीतारमण के बयान के अनुसार विलफुल डिफॉल्टर्स के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। आरबीआई की गाइडलाइंस के अनुसार विलफुल डिफॉल्टर्स को किसी बैंक या वित्तीय संस्था से कोई राहत नहीं मिली हुई है। डिफॉल्टर को पांच सालों के लिए कोई दूसरी यूनिट लगाने पर पाबंदी लगाई गई है। वहीं दिवाला एवं दिवालिया संहिता, 2016 का इस्तेमाल करते हुए विलफुल डिफॉल्टर्स को दिवाला निस्तारण प्रक्रियाओं में हिस्सा लेने से रोका गया है।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned