2000 साल पुरानी लाइब्रेरी में मिले 20 हजार स्क्रॉल

2000 साल पुरानी लाइब्रेरी में मिले 20 हजार स्क्रॉल

Amanpreet Kaur | Publish: Aug, 12 2018 02:23:14 PM (IST) शिक्षा

जर्मनी के कोलोन में एक खुदाई के दौरान करीब २००० साल पुरानी रोमन लाइब्रेरी मिली है।

२००० साल पहले भी लाइब्रेरी हुआ करती थी और उस समय भी लोगों में पढऩे की ललक हुआ करती थी। बेशक उस समय ज्यादा लोग शिक्षित नहीं होते थे, लेकिन ज्ञान अर्जित करने की चाह बहुत लोगों में होती थी। हाल ही जर्मनी के कोलोन में एक खुदाई के दौरान करीब २००० साल पुरानी रोमन लाइब्रेरी मिली है। पुराविदों के अनुसार यहां करीब २०००० से अधिक चर्मपत्र या स्क्रॉल रखे गए थे। कोलोन जर्मनी के सबसे पुराने शहरों में है। इसकी स्थापना ५० ई. में रोमनों ने कोलोनिया नाम से की थी। शहर के बीचोंबीच स्थित एक चर्च की खुदाई के दौरान पहली बार इसके अवशेष २०१७ में मिले थे, लेकिन आर्कियोलॉजिस्ट इस इमारत के अंदर ८० सेंटीमीटर लंबे और ५० सेंटीमीटर चौड़े ताखों का रहस्य उन्हें चकरा रहा था। काफी खोज के बाद उन्हें पता चला कि ये प्राचीन स्क्रॉल रखने के लिए बनाए गए थे। दरअसल ऐसे ही ताखे ११७ ई. में बने ईफियस की लाइब्रेरी में भी थे।

तीस फुट ऊंची इमारत

शेधकार्ताओं का मानना है कि यह ६५ फुट लंबी और ३० फुट चौड़ी यह इमारत करीब तीस फुट ऊंची रही होगी। पहली शताब्दी में रोमन सम्राट अगस्टस ने लाइब्रेरी बनवाना शुरू किया था। धीरे-धीरे यह पूरे रोमन साम्राज्य का एक प्रतीक बन गया। इतिहासकारों का मानना है कि इनका निर्माण तो सार्वजनिक पुस्तकालय के तौर पर किया गया था, लेकिन यहां आने की अनुमति सिर्फ कुछ खास लोगों को होती थी। चूंकि उस समय लिखने के लिए पेपीरस (भोजपत्र) या स्क्रॉल (चर्मपत्र) का इस्तेमाल होता था, ऐसे में इनके अवशेष मिलने की गुंजाइश काफी कम है।

फिर भी इतिहास के इस अनमोल खजाने को बचाए रखने के लिए जर्मनी के लोग पूरी जतन कर रहे हैं। इसे बचाने के लिए यहां बनाए जाने वाले कम्युनिटी सेंटर का आकार छोटा किया गया है। इसके लिए इसके नक्शे में भी बदलाव करना पड़ा है।

Ad Block is Banned