आत्मरक्षा के लिए छात्राओं को जूडो, ताइक्वांडो व बॉक्सिंग की ट्रेनिंग

विद्यालयों में छात्राओं को सामान्य आत्मरक्षा प्रशिक्षण देने के अलावा सरकार कन्या विद्यार्थियों को जूडो-कराटे, ताइक्वांडो व बॉक्सिंग की ट्रेनिंग दिलवा रही है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (HRD Minister Ramesh Pokhriyal Nishank) ने यह जानकारी साझा करते हुए बताया कि दिल्ली के कई स्कूलों में तो आत्मरक्षा का प्रशिक्षण स्वयं दिल्ली पुलिस (Delhi Police) द्वारा दिया जा रहा है।

By: जमील खान

Published: 10 Dec 2019, 10:48 AM IST

विद्यालयों में छात्राओं को सामान्य आत्मरक्षा प्रशिक्षण देने के अलावा सरकार कन्या विद्यार्थियों को जूडो-कराटे, ताइक्वांडो व बॉक्सिंग की ट्रेनिंग दिलवा रही है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक (HRD Minister Ramesh Pokhriyal Nishank) ने यह जानकारी साझा करते हुए बताया कि दिल्ली के कई स्कूलों में तो आत्मरक्षा का प्रशिक्षण स्वयं दिल्ली पुलिस (Delhi Police) द्वारा दिया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि जवाहर नवोदय विद्यालय (Jawahar Navoday Vidyalay), सेंट्रल तिब्बतियन स्कूल (Central Tibetan School) व केंद्रीय विद्यालयों (Central schools) में जूडो-कराटे समेत अन्य आधुनिक तरीकों से आत्मरक्षा के गुर छात्राओं को सिखाए जा रहे हैं। मानव संसाधन मंत्रालय (Ministry of Human Resources) का कहना है कि छात्रों को दिए जाने वाले इस प्रशिक्षण का खर्च भी मंत्रालय ही उठा रहा है।

दरअसल कई विद्यालय व वहां पढऩे वाली छात्राएं इस प्रकार की आधुनिक आत्मरक्षा ट्रेनिंग का आर्थिक बोझ नहीं उठा पाती। इसको देखते हुए सरकार इन स्कूलों को प्रशिक्षण में आने वाले खर्च की भरपाई कर रही है। वहीं उच्च शिक्षण संस्थानों में छात्राओं को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग देने के लिए यूजीसी (UGC) ने भी नोटिस जारी किए हैं। नोटिस में शिक्षण संस्थानों से छात्राओं को आत्मरक्षा की ट्रेनिंग दिलवाने का अनुरोध किया गया है।

मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल के मुताबिक दिल्ली पुलिस की एक स्पेशल यूनिट दिल्ली के शिक्षण संस्थानों में आत्मरक्षा का प्रशिक्षण दे रही है। स्कूल, कॉलेज के प्रिंसिपल के अनुरोध पर पुलिस की महिला अधिकारी इन शिक्षण संस्थानों में जाकर यह ट्रेनिंग दे रही हैं। इसके अलावा खास बात यह है कि पुलिस का यह प्रशिक्षण बहुराष्ट्रीय कंपनियों, अस्पतालों, संस्थानों, होटलों आदि की महिला कर्मचारियों के लिए भी उपलब्ध है।

Show More
जमील खान
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned