गैंगरेप के मामले में महिला सहित पांच को आजीवन कारावास

गैंगरेप के मामले में महिला सहित पांच को आजीवन कारावास
,

Amit Sharma | Updated: 06 Oct 2019, 05:27:05 PM (IST) Etah, Etah, Uttar Pradesh, India

नाबालिग के साथ गैंगरेप के मामले में 5 आरोपियों को न्यायालय ने सुनाई आजीवन कारावास की सजा।

न्यायालय स्पेशल जज एससी एसटी एक्ट एटा द्वारा आजीवन कारावास एवं 19-19 हजार रुपए के अर्थदंड से दंडित किया गया है।

एटा। जिले के सकीट थाना क्षेत्र के गांव कर्मचंद्रपुर में साल 2012 में एक 13 वर्षीय नाबालिग का अपहरण कर उसके साथ गैंगरेप के मामले में महिला सहित पांच आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है।

यह भी पढ़ें- साक्षी अजितेश की मुश्किलें नहीं हो रहीं कम, मुंबई में रिपोर्ट दर्ज, जानिए क्या है मामला

क्या है मामला

थाना सकीट क्षेत्र के कर्मचंद्रपुर निवासी 13 वर्षीय नाबालिग 28 नवम्बर 2012 को घर से कन्या पाठशाला सकीट में पढ़ने के लिए गई थी, लेकिन शाम तक वापस नहीं लौटी। परिजनों ने तलाश की तो उन्हें पता चला कि पीड़िता 28 की शाम आरोपित लालू पुत्र बदनसिंह निवासी कर्मचंद्रपुर के साथ देखी गयी है। इस सूचना के बाद और तलाश करने पर ज्ञात हुआ कि आरोपित लालू दूसरे आरोपित सुबोधकुमार व अनिल कुमार पुत्रगण खचेर सिंह, शकुन्तला पत्नी खचेर सिंह व स्वयं खचेर सिंह पुत्र भगवानदास के सहयोग से पीड़िता को बहला-फुसलाकर अपहरण कर ले गया है। पुलिस ने 4 दिसम्बर 2012 को इस मामले को थाने में दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी। इस बीच पीड़िता व आरोपित लालू ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय में एक रिट याचिका प्रस्तुत की। इस याचिका में उच्च न्यायालय ने 21 दिसम्बर 2012 को संबंधित जिले के मजिस्टेट्र के समक्ष प्रस्तुत होने, बयान अंकित कराने तथा आयु सम्बन्धी जांच के आदेश दिये। इस आदेश के बाद पुलिस ने 22 दिसम्बर को पीड़िता का बयान अंकित कराते हुए उसका चिकित्सकीय परीक्षण कराया। इसमें पीड़िता नाबालिग पायी गयी। पुलिस द्वारा मामले में आरोप पत्र प्रस्तुत करने के बाद हुए परीक्षण के दौरान पक्ष-विपक्ष की दलीलों व सबूतों के आधार पर न्यायालय ने पाया पीड़िता के साथ आरोपित लालू के साथ अन्य आरोपित सुबोध ने भी उसके साथ दुष्कर्म किया गया।

यह भी पढ़ें- चिन्मयानंद केस: जितिन प्रसाद के भाई का सनसनीखेज बयान, बोले- प्रियंका, सोनिया गांधी ने रची बड़ी साजिश, सबूत होने का दावा

न्यायालय खलीकुज्जमा ने आरोपित एक महिला सहित लालू, सुबोध, अनिल, खचेरसिंह सहित 5 लोगों को गैंगरेप व एससी/एसटी केस में आजीवन कारावास की सजा सुनाते हुए प्रत्येक आरोपी को 19-19 हजार के अर्थदण्ड से दण्डित किया गया है। वहीं आरोपित लालू व सुबोध को दुष्कर्म के मामले में अलग से आजीवन कारावास व 10-10 हजार के अर्थदण्ड की सजा सुनाई है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned