एसएसपी साहेब के आफिस पर थी उस गर्भवती महिला की निगाहें

चार घंटें बीत गए वह इंतजार करती रही और दर्द से कराहती रही
पर जब यह मामला एसपी के सामने आया तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए।

By: Mahendra Pratap

Published: 12 Oct 2020, 06:28 PM IST

इटावा. इटावा एसएसपी आफिस के बाहर एक गर्भवती महिला कराह रही थी। आते जाते लोगों की निगाहें उस पड़ती तो लोग उसकी हालात को देखकर भावुक हो जाते थे। पति और बच्चे साथ थे पर सभी की निगाहें बेबसी के साथ एसएसपी आफिस पर लगी हुई थी। कब साहेब आएं और वह उनसे न्याय की गुहार लगाएं। चार घंटें बीत गए वह इंतजार करती रही और दर्द से कराहती रही। पर जब यह मामला एसपी के सामने आया तो उन्होंने तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए।

एसपी सिटी डा.रामयश सिंह ने बताया कि महिला के पति ने उनके समक्ष मिल कर अपनी वेदना रखी है। उनके समक्ष दोपहर मे यह मामला सामने आया है। जिसके बाबत जसवंतनगर थाना पुलिस को कार्यवाही के सख्त निर्देश आरोपियों के खिलाफ दे दिये गये है। पीड़ित परिवार ने बताया कि थाना जसवंतनगर क्षेत्र के अंतर्गत रेलमंडी में दलित परिवार पर दबंगों का कहर इस प्रकार टूटा कि दबंगों ने घर मे घुसकर गर्भवती महिला और उसके बच्चे को लात घूसों से जमकर पीट दिया, दबंगों की शिकायत करने गए पीड़ित परिवार को थाना पुलिस ने गाली गलौज देकर भगा दिया। थक हारकर न्याय की मांग लेकर महिला अपने पति और बच्चों के साथ एसएसपी कार्यालय के बाहर कचहरी परिसर में जमीन पर आकर लेट गयी। बेरहम पुलिस के अधिकारियों का दिल इससे भी नही पसीजा करीब चार घण्टे के बाद जब महिला की तबियत बिगड़ने लगी तो मीडिया के दखल के बाद एसपी सिटी ने पीड़ित महिला को न्याय का आश्वासन देकर थाना भेज दिया।

शिकायत करने पर पुलिसकर्मियों ने गाली गलौज की :- पीड़ित महिला कंचन देवी ने बताया कि वह थाना जसवंतनगर क्षेत्र के अंतर्गत रेल मंडी मुहल्ले में रहती है उसके पति मेहनत मजदूरी करके घर का खर्च चलाते है। कल जब उसका पति अनिल काम पर गया हुआ था तो मुहल्ले में खेल रहे बच्चों ने गली में खड़ी दबंग की गाड़ी में स्क्रेच मार दिया, जिसके बाद दबंगों ने अपने साथियों के साथ घर मे घुसकर उसके बच्चों और उसके साथ मारपीट करना शुरू कर दिया। उसने बताया कि वह दो महीने के गर्भ से है। दबंग के द्वारा की गई मारपीट से उसके पेट मे पल रहे बच्चे की मौत हो गई है। मामले की शिकायत करने वह थाना जसवंतनगर गई थी जहां पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने दबंगो पर कार्यवाही करने की जगह उल्टा उसे गाली गलौज देकर थाना से भगा दिया। जिसकी वजह से मजबूरीवश आज वह कचहरी परिसर में अपने पति और बच्चों के साथ जमीन पर लेटी हुई है। उसकी तबियत बिगड़ती जा रही है। लेकिन उसकी कोई सुनवाई नही हो रही है।

थाने में सुनवाई नहीं हुई :- पीड़ित महिला के पति अनिल कुमार जाटव ने बताया कि वह मजदूरी करने घर से बाहर गया हुआ था, तभी मुहल्ले में दबंगों ने किसी बात को लेकर घर मे घुसकर उसकी पत्नी और बच्चों के साथ मारपीट कर दी है। पिटाई की वजह से उसकी पत्नी के पेट मे पल रहे बच्चे की मौत हो गयी है। उसके पास इलाज के लिए पैसे नही है। थाना में सुनवाई न होने के कारण वह आज कचहरी में एसएसपी कार्यालय के बाहर आया है।

Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned