नेता जी को बडी जीत दिलाने के लिए शिवपाल के आवाहन पर सैफई हुई एकजुट, विपक्षीय पार्टियों में मचा हड़कम्प

नेता जी को बडी जीत दिलाने के लिए शिवपाल के आवाहन पर सैफई हुई एकजुट, विपक्षीय पार्टियों में मचा हड़कम्प

Neeraj Patel | Publish: Apr, 19 2019 04:01:03 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

समाजवादी पार्टी के संरक्षक नेता जी मुलायम सिंह यादव की उत्तर प्रदेश की मैनपुरी संसदीय सीट पर सबसे बडी जीत के लिए सैफई एकजुट नजर आए।

इटावा. समाजवादी पार्टी के संरक्षक नेता जी मुलायम सिंह यादव की उत्तर प्रदेश की मैनपुरी संसदीय सीट पर सबसे बडी जीत के लिए सैफई एकजुट नजर आई। जसंवतनगर विधानसभा से जुडे हुए पीएसपी और सपा के प्रमुख नेताओं और कार्यकर्त्ताओं की बैठक मे सैफई गांव के भी बडी तादात में लोगों ने हिस्सेदारी की। नेता जी मुलायम सिंह यादव के भाई और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया का गठन कर चुके शिवपाल सिंह यादव के आवाहन पर बुलाई की अहम बैठक आज दोपहर एसएस मैमोरियल स्कूल मे आयोजित हुई जिसमे जहां नवगठित प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से जुडे हुए नेता और कार्यकर्त्ता तो एक जुट हुए ही वहीं दूसरी ओर नेता जी के नाम पर समाजवादी पार्टी के भी कार्यकर्त्ता आ पहुंचे।

बड़ी जीत दिलाने के लिए एकजुट दिखे नेताजी

सपा व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के बड़ी संख्या में कार्यकर्ता एकजुट होकर एस.एस.मेमोरियल सैफई में शिवपाल सिंह यादव की मौजूदगी में नेताजी को देश की सबसे बड़ी जीत दिलाने के लिए एकजुट दिखे। पीएसपी प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमने कभी यह नहीं सोचा था कि नेताजी अलग लड़ेंगे और हम अलग चुनाव चिन्ह से चुनाव से लड़ेंगे। नेता जी से तो सबसे बड़ी गलती हो गई थी उन्होंने 2012 में ही सभी अधिकार दे दिए थे उन्होंने कहा कि हम ने नेताजी से 2012 में ही कहा था अब नुकसान होना है। अधिकार कुछ अपने पास में भी रखिए सभी अधिकार मत दे दो लेकिन नेताजी ने मेरी बात नहीं मानी। उन्होंने सभी अधिकार दे दिए थे जिसका परिणाम आज देखने को मिला है। जसवंतनगर विधानसभा से हमेशा एक बड़ी जीत हुई है। नेताजी से लेकर जितने प्रत्याशी उतारे गए वह सभी जीतने मे कामयाब हुए है ।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि राजनीत समाजसेवा है कुछ एमएलए एमपी बन जाते हैं। स्वार्थ के लिए तो कुछ सेवा के लिए बनते हैं। उन्होंने कहा हमने कभी पद नहीं मांगा था और यह भी कहा था अगर प्रदेश में नहीं रखना चाहते हो तो दूसरा प्रदेश दे दो जहां हम कार्य करते रहेंगे लेकिन इस बात पर भी तैयार नहीं है। भतीजे अखिलेश व बसपा सुप्रीमो मायावती का नाम लेते हुए का उन्होंने कहा कि उन पर भरोसा करना चाहिए क्या। यादव ने कहा कि जो लोग मुझ पर बीजेपी से मिले होने का आरोप लगा रहे थे आज सबको पता चल गया है कि कौन बीजेपी से मिला है। कौन दावत खाने गया था। नेताजी की वजह से 5 बार राज्यसभा में भेजे गए। मोहन भागवत की दावत में हम तो गए नहीं लेकिन उनकी फोटो हर जगह आई तो इससे अंदाजा लगाये किससे किसके संबध बने हुए हैं।

बुजुर्ग लोगों ने कहा कि बहू के खिलाफ प्रत्याशी नहीं उतारो तो मैंने तुरंत अपने बुजुर्गों की बात मानी और पर्चा वापस ले लिया। नेता जी के लिए वोट मांगने के दौरान शिवपाल ने कहा कि हम सब भाई-भाई एक साथ है लेकिन पार्टी में कुछ ज्यादा पढ़े लिखे और बुद्धिमान लोग है। उनसे मेरा कोई सबंध नहीं है। शिवपाल यादव ने कहा कि 2022 विधानसभा चुनाव में हम प्रदेश में सरकार बना रहे हैं।

ये लोग रहे मौजूद

इस मौके पर राम नरेश यादव राष्ट्रीय महासचिव, पूर्व खेल मंत्री असलम खान, पूर्व मंत्री रामसेवक यादव, पीएसएस अध्यक्ष सुनील यादव,महावीर यादव प्रधान, डा. अरविंद यादव,चंदगीराम यादव प्रधान,संतोष शाक्य ब्लाक अध्यक्ष सपा, राजवीर बाबा, रामनरेश यादव प्रधान,सहित दोनों पार्टी के कार्यकर्ता पदाधिकारी मौजूद रहे ।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned