आई परिवर्तन की आंधी है शिवपाल हमारे गांधी है, कभी ऐसे नारे के बैनरो से पटी थी इटावा की सड़के

आई परिवर्तन की आंधी है शिवपाल हमारे गांधी है, कभी ऐसे नारे के बैनरो से पटी थी इटावा की सड़के

Mahendra Pratap Singh | Publish: Sep, 04 2018 12:17:43 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

शिवपाल सिंह यादव के सेक्यूलर मोर्चे के ऐलान के बाद लगाए जा रहे कायस, सपा को नुकसान होने की चर्चाएं तेज

इटावा. शिवपाल सिंह यादव के समाजवादी सेक्यूलर मोर्चे के ऐलान के बाद कई तरह के कायस लगाये जा रहे हैं जिनमें समाजवादी पार्टी को नुकसान होने की चर्चाएं बहुत तेजी से चल निकली है। कुछ लोग इस बात को कहते हुए सुने जा रहे हैं कि शिवपाल सिंह यादव का यह कदम आज का नहीं है इसकी तैयारी तो उन्होंने और उनके समर्थकों ने काफी पहले से ही कर रखी थी।

गुप्त रूप से की जा रही तैयारियों के क्रम मे शिवपाल यादव को देश का सबसे महानतम नेता बताने की कोशिश की जाने लगी थी। अगर बात की जाए तो 2017 के मध्य जुलाई माह में पूरे इटावा शहर मे बड़े स्तर पर ऐसे ऐसे पोस्टर और होर्डिंग लगाए गए थे जिनमें शिवपाल सिंह यादव को ऐसा नेता बताया गया था जिसकी कोई दूसरी मिसाल मानों कही भी न हो।

यह सब कुछ इटावा में हुआ जहं मुलायम के लोग नामक संगठन की ओर से बड़े स्तर पर होर्डिंग और बैनर इटावा शहर के मुख्य मुख्य स्थानों पर लगाए गए। रात के अंधेरे मे लगाए गए इन बैनर पोस्टर और होर्डिंगो को देख लोग सकते में आ गए। उनको समझ में नहीं आ रहा कि मुलायम के लोग संगठन के लोग इन सब के जरिए क्या संदेश देने के मूड़ में हैं। सुबह होते ही टहलने वालों के बीच इन पोस्टरों को लेकर चर्चाओं को बाजार गर्म होता हुआ जरूर दिखा।

आस्था रखने वालों में उर्जा भरने का किया जा रहा काम

इटावा जिला पंचायत सदस्य दिलीप यादव बबलू ने कहा था कि इन होर्डिंग बैनर और पोस्टरों के माध्यम से मुलायम सिंह यादव और शिवपाल सिंह यादव में आस्था रखने वालों में उर्जा भरने का काम किया जा रहा है। इस तरह के इटावा शहर में फिलहाल दो दर्जन के आसपास पोस्टर होर्डिंग और बैनर लगाए गए। इन पोस्टरों को लगाए जाने का निर्णय मुलायम के लोग संगठन को संचालित करने वाले पदाधिकारियो ने खुद वा खुद लिया हुआ है इनमें किसी भी तरह से शिवपाल सिंह यादव की कोई भी रजामंदी या फिर सहमति नहीं है।

यह पहला मौका नहीं था जब मुलायम के लोग नामक संगठन की कोई गतिविधि सामने आई हुई है इससे पहले भी ही बीते विधानसभा चुनाव के दौरान इस संगठन की गतिविधि बड़े स्तर पर सामने आई थी। वैसे इस संगठन के पदाधिकारियों को बड़े स्तर पर शिवपाल सिंह यादव की ओर से समर्थन मिला हुआ रहा है। विधानसभा चुनाव के दरम्यान इस संगठन का कार्यालय भी शिवपाल सिंह यादव के चौगुर्जी आवास के करीब एक बिर्ल्डस कंपनी के मकान मे खोला गया था लेकिन चुनाव खत्म होने से पहले ही इस कार्यालय को न केवल बंद कर दिया गया बल्कि मुलायम के नाम की तख्ती भी उखाड़ ली थी।

इटावा शहर के विभिन्न इलाकों में लगाए गए होर्डिंग और बैनर

मुलायम के लोग नामक संगठन की तरफ से जो होर्डिंग और बैनर इटावा शहर के विभिन्न इलाकों में लगाए गए। उनमें शिवपाल सिंह यादव को उत्तर प्रदेश का बड़ा और अहम नेता बताते हुए नारे लिखे गए। जहां एक बैनर में लिखा गया गूंजे धरती और पाताल प्रदेश के नेता है शिवपाल वही दूसरे में मंदिर मस्जिद गुरुद्वारों से आती आवाज यही शिवपाल लाओ प्रदेश बचाओ करते हैं सब बात यही। तीसरे बैनर में लिखा गया है कि आई परिवर्तन की आंधी है। शिवपाल हमारे गांधी है।

Ad Block is Banned