European Parliament elections: ब्रेक्जिट पर बढ़ते मतभेदों के बीच वोटिंग शुरू

  • रविवार को यूरोपीयन यूनियन के लिए मतदान खत्म होगा।
  • ब्रिटेन में ब्रेक्जिट को लेकर सियासी रार जारी है।
  • ब्रिटेन क्षेत्र से यूरोपीय संसद में 73 सदस्य है।

 

By: Anil Kumar

Updated: 23 May 2019, 03:18 PM IST

नई दिल्ली। ब्रिटने में यूरोपीय संघ ( European Union ) से अलग होने को लेकर ब्रेक्जिट ( Brexit ) पर बढ़ते मतभेदों के बीच यूरोपीय संसद का चुनाव शुरू हो गया है। गुरुवार को मतदाता अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए वोटिंग कर रहे हैं। इंग्लैंड में 9 जबकि स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्री आइरलैंड के एक-एक निर्वाचन क्षेत्रों के लिए सांसद चुना जाएगा, जिसे MEPs कहा जाता है। यूरोपीयन यूनियन में ब्रिटेन से कुल 73 सदस्य हैं। हर क्षेत्र में जनसंख्या के आधार पर प्रतिनिधियों की संख्या तय की जाती है, इसमें उत्तर पूर्व और उत्तरी आयरलैंड ( ireland ) में में तीन MEPs से लेकर दक्षिण पूर्व में 10 MEPs तक शामिल है। बता दें कि ब्रिटेन में मतदान केंद्र सुबह 07:00 से रात के 10 बजे तक खुले रहेंगे।

थेरेसा मे को सांसदों का मिला समर्थन, 30 जून तक यूरोपीय संघ से अलग होने का प्रस्ताव

चार दिन तक चलेगी मतदान प्रक्रिया

यूरोपीय संघ के लिए चार दिनों तक वोटिंग प्रक्रिया चलेगी। ब्रिटेन क्षेत्र के सभी सीटों के लिए परिणाम की घोषणा एक साथ की जाएगी। मतदान की प्रक्रिया 26 मई रविवार को संपन्न होगी। मतदाताओं को मतदान करने के लिए पंजीकृत होना चाहिए। इसके लिए मतदाताओं को 18 साल का होना चाहिए या 23 मई को एक ब्रिटिश ( British ) , आयरिश ( Irish ) या योग्य राष्ट्रमंडल नागरिक ( Commonwealth citizen ) या यूरोपीय संघ के देश का नागरिक होना चाहिए। बता दें कि MEPs का चुनाव प्रत्येक क्षेत्र में वोट के कुल हिस्से के आधार पर, उनकी पार्टी द्वारा सूचीबद्ध क्रम में चुने जाते हैं। इंग्लैंड के 9 क्षेत्रों जिसमें वेल्स और स्कॉटलैंड शामिल है, MEPs की संख्या की गणना आनुपातिक प्रतिनिधित्व के तौर पर किया जाता है, जिसे D'Hondt सूत्र कहा जाता है। हर मतदाता एक पार्टी या फिर वापस जाकर individual को चुन सकता है। हालांकि यह प्रक्रिया उत्तरी आयरलैंड में बिल्कुल अलग है। यहां पर सिंगल ट्रांसफरेबल वोट ( STV ) सिस्टम का उपयोग किया जाता है। इसमें मतदाता राजनीतिक दलों को क्रम के अनुसार वरीयता के हिसाब से वोट करता है।

एंड्रिया लेडसम का मंत्रिमंडल से इस्तीफा

मतदान प्रक्रिया शुरू होने से पहले ब्रिटेन में हाउस ऑफ कॉमन्स की नेता एंड्रिया लेडसम ने मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। लेडसम ने पीएम थेरेसा मे पर निशाना साधते हुए अपने बयान में कहा है कि उन्हें नहीं लगता कि मौजूदा सरकार की नीति के जरिए ब्रेक्जिट संभव हो सकता है। बता दें कि लेडमस ने ऐसे वक्त में इस्तीफा दिया है जब कंजर्वेटिव सांसद प्रधानमंत्री थेरेसा मे की ब्रेक्जिट योजना का जोरदार विरोध कर रहे हैं। पीएम थेरेसा मे की इस्तीफे की मांग लगातार की जा रही है। हालांकि प्रधानमत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में लेडमस के इस्तीफे पर निराशा जाहिर किया गया है, जबकि उनके काम की तारीफ भी की गई है। बता दें कि एंड्रिया लेडसम थेरेसा मे की सरकार से इस्तीफा देने वाली 36 वीं मंत्री हैं। इससे पहले 21 मंत्रियों ने ब्रेक्जिट के मुद्दे पर इस्तीफा दिया है।

 

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned