सोने-जगने को काबू करने वाली जैविक घड़ी पर शोध के लिए नोबेल

Rahul Chauhan

Publish: Oct, 03 2017 01:56:13 (IST)

Europe
सोने-जगने को काबू करने वाली जैविक घड़ी पर शोध के लिए नोबेल

वैज्ञानिकों ने जिन चीजों की खोज की उससे मरीज आज भी फायदा उठा रहे हैं। नोबेल प्राइज 10 दिसंबर को स्वीडन में दिए जाते हैं।

ओस्लो। साल 2017 का चिकित्सा का नोबेल अमरीका के तीन जीवविज्ञानियों जेफ्रे सी हॉल, माइकल रोसबाश और माइकल डब्ल्यू यंग को दिया जाएगा। उन्हें यह पुरस्कार प्राणियों के सोने और जगने को नियंत्रित करने वाली जैविक घड़ी पर शोध के लिए मिलेगा। नोबेल एकेडमी ने बताया कि तीनों वैज्ञानिकों के काम से ये समझाया जा सकता है कि कैसे पौधे, पशु और इंसानों में कैसे बायोलॉजिकल क्लॉक (जैविक घड़ी) काम करती है और ये धरती के घूमने से किस तरह से तालमेल बैठाती है। तीनों को करीब 7 करोड़ 20 लाख रुपए पुरस्कार राशि मिलेगी। पिछले साल जापान के योशिनोरी ओशुमी को चिकित्सा का नोबेल मिला था।

एक लय के मुताबिक होती है घड़ी
इंटरनल बायोलॉजिकल क्लॉक यानी आंतरिक जैविक घड़ी को सर्केडियन रिदम के नाम से भी जाना जाता है। कई सालों से हमारे वैज्ञानिकों को पता है कि जीवों में एक इंटरनल क्लॉक होता है जो दिन के रिदम के अनुरूप खुद को ढालता है। इन वैज्ञानिकों ने इसी आंतरिक कार्यप्रणाली का करीब से अध्ययन किया।

1901 में पहली बार इस क्षेत्र को सम्मान
1901 में पहली बार चिकित्सा के लिए नोबेल पुरस्कार दिया गया था। तब से मेडिकल साइंस ने बहुत प्रगति की है। वैज्ञानिकों ने जिन चीजों की खोज की उससे मरीज आज भी फायदा उठा रहे हैं। नोबेल प्राइज 10 दिसंबर को स्वीडन में दिए जाते हैं। 10 दिसंबर, 1896 को ही इसके संस्थापक अल्फ्रेड नोबेल का निधन हुआ था।

एक को पता ही नहीं था कि मिल रहा है पुरस्कार
मजेदार बात यह रही कि पुरस्कार की घोषणा के समय तीन वैज्ञानिकों में से एक को पता ही नहीं था कि उन्हें नोबेल पुरस्कार मिल रहा है। आम तौर पर घोषणा से पहले पुरस्कार समिति विजेताओं से संपर्क करती है। समिति ने जेफ हॉल और माइकल रोसबैश से संपर्क किया लेकिन माइकल यंग के साथ उनका टेलिफोन से संपर्क नहीं हो पाया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned