ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे ने जालियांवाला बाग के नरसंहार पर खेद जताया, कहा- हमें इसका गहरा अफसोस

ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे ने जालियांवाला बाग के नरसंहार पर खेद जताया, कहा- हमें इसका गहरा अफसोस

Mohit Saxena | Publish: May, 10 2019 11:00:55 AM (IST) | Updated: May, 10 2019 05:33:50 PM (IST) यूरोप

  • नरसंहार में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी
  • 13 अप्रैल 1919 को हुई घटना को सौ साल पूरे हुए
  • यह दूसरा मौका है जब ब्रिटिश पीएम ने खेद जताया है

लंदन। लंदन में डाउनिंग स्ट्रीट पर बैसाखी के स्वागत समारोह में ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने जलियांवाला बाग नरसंहार पर खेद व्यक्त किया है। गौरतलब है कि 13 अप्रैल 1919 को अमृतसर के जालियांवाला बाग में हुए इस नरसंहार में सैकड़ों लोगों की मौत हो गई थी। इस घटना को सौ साल पूरे हो गए हैं। थेरेसा मे ने कहा कि हमें इस बात का गहरा अफसोस है कि ऐसा क्या हुआ और कितने लोगों को दर्द हुआ। उस दिन जो हुआ उसका लेखा-जोखा सुनने वाला कोई भी व्यक्ति गहराई से जानने में विफल हो सकता है।

लॉस एंजेलिस: घर में मिला हथियारों का जखीरा, एक हजार बंदूकों के साथ हैंड ग्रनेड भी मिले

इस घटना को सबसे खराब बताया

कोई भी वास्तव में कल्पना नहीं कर सकता है कि उन बागानों के आगंतुक एक सौ साल पहले उस दिन कैसे गए थे। थेरेसा मे ने भारतीय प्रवासियों की एक सभा को बताया कि पूरे ब्रिटेन के इतिहास में इस घटना को सबसे खराब बताया जा सकता है। बीते माह भी ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने संसद में जलियांवाला बाग हत्याकांड पर खेद प्रकट कर इसे शर्मनाक बताया था। उन्होंने इस घटना पर दुख व्यक्त किया। यह पहला मौका था जब किसी ब्रिटिश पीएम ने खुलकर इस घटना पर दुख प्रकट किया था। इसकी निंदा की। अब तक जलियावाला बाग हत्याकांड को लेकर किसी भी ब्रिटिश पीएम ने खुलकर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्ति नहीं की थी।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned