सोशल मीडिया वरदान या अभिशाप विषय पर अवध विश्वविद्यालय में हुई वाद-विवाद प्रतियोगिता

पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा की स्मृति में हुआ आयोजन पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी में हुई शामिल

फैजाबाद : पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा की स्मृति में फैजाबाद के अवध विश्वविद्यालय में वाद-विवाद प्रतियोगिता संपन्न हुई। विषय था सोशल मीडिया वरदान या अभिशाप। इस प्रतियोगिता में स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा की पुत्री व पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी में शिरकत कर प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन किया। यह प्रतियोगिता लखनऊ विश्वविद्यालय के सहयोग से उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड कि 30 विश्वविद्यालय में कराई जा रही है। इसका आयोजन हेमवती नंदन बहुगुणा समिति कर रही है। कार्यक्रम के तृतीय सप्ताह में वाद-विवाद प्रतियोगिता अपना अंतिम रूप लेगी और उसका फाइनल लखनऊ विश्वविद्यालय में कराया जाएगा जिसमें कई केंद्रीय मंत्रियों के शामिल होने की उम्मीद है।इस मौके पर रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि सोशल मीडिया सहयोगी भी है लेकिन समाज की उपयोगिता पर विचार भी करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि इस प्रतियोगिता में प्रथम आने वाले प्रतिभागी को 51 हज़ार रुपए द्वितीय प्रतिभागी को 31 हज़ार तृतीय प्रतिभागी को 21 हज़ार और सांत्वना पुरस्कार के रुप में 11 हज़ार रुपये दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के अनुरोध पर केंद्र सरकार हेमवती नंदन बहुगुणा के नाम पर डाक टिकट जारी कर रही है और विधानसभा में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वर्गीय हेमवती नंदन बहुगुणा को श्रद्धांजलि दी और विधानसभा में एक प्रतिमा भी लगाई जा रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा की स्मृति में हुआ आयोजन पर्यटन मंत्री रीता बहुगुणा जोशी में हुई शामिल

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो0 मनोज दीक्षित ने कहा कि जब भी कोई अविष्कार होता है तो उसका उपयोग भी होता है और दुरूपयोग भी। किन्तु दुरूपयोग से समाज में विध्वंस होता है, सोशल मीडिया पर यह बात लागू होती है। सोशल मीडिया पर कोई फिल्टर नहीं लगता है जबकि सोशल मीडिया के खबरों को डबल फिल्टर से देखने की जरूरत है। प्रो0 दीक्षित ने कहा कि सोशल मीडिया एक सर्वव्यापी प्लेट फार्म है। आज इसका उपयोग करोड़ों लोग कर रहे है इसके उपयोग में यदि हम राष्ट्र की संस्कृति को अपनी धरोहर नही मानेंगे तो हमारी पहचान खत्म हो जायेगी।विश्वविद्यालय स्तर पर विजयी प्रतिभागी दिनांक 18 सितम्बर को लखनऊ में आयोजित अन्र्तविश्वविद्यालयी प्रतियोगिता में भाग लेंगे। दिनांक 19 सितम्बर को होने वाले समापन समारोह में प्रतियोगिता के विजयी प्रतिभागी को पुरस्कृत किया जायेगा। समारोह में मुख्य अतिथि केन्द्रीय कानून एवं सूचना प्रौद्यगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद होंगे। इसका आयोजन सी0एम0एस0 आडीटोरियम गोमती नगर लखनऊ में किया जायेगा। पुरस्कार के क्रम में प्रथम पुरस्कार धनराशि 51,000, द्वितीय पुरस्कार 31,000, तृतीय पुरस्कार 21,000 एवं सान्तवनां पुरस्कार 11,000 दिया जायेगा।

अनूप कुमार Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned