पीएम मोदी के प्रयास से अयोध्या में सरयू नदी किनारे बनेगा सवा किमी लंबा बैराज

पीएम मोदी के प्रयास से अयोध्या में सरयू नदी किनारे बनेगा सवा किमी लंबा बैराज

Anoop Kumar | Publish: Sep, 11 2018 06:33:19 PM (IST) Faizabad, Uttar Pradesh, India

केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय की टीम पहुँची अयोध्या सर्वे करने के बाद शुरू होने वाला है परियोजना पर काम

फैजाबाद : आगामी दिनों में देश की नरेन्द्र मोदी सरकार द्वारा राम नगरी अयोध्या को दी जाने वाली एक बड़ी सौगात धरातल पर उतरने वाली है | जिसके तहत सरयू के घाटो पर जल की अविरलता के साथ राम की पैड़ी सदा के लिए स्वच्छ सुन्दर और साफ होने जा रही है। सरयू नदी में अब शीघ्र वैराज का निर्माण होगा। मंगलवार को फैजाबाद से भाजपा सांसद लल्लू सिंह ने जलसंसाधन मंत्रालय की वाककोष संस्था की टीम के साथ स्थलीय निरीक्षण किया। बताते चलें कि वैराज के निर्माण में जलयान के आवागमन के लिए अपेक्षित मार्ग भी दिया जायेगा |

केंद्रीय जल संसाधन मंत्रालय की टीम पहुँची अयोध्या सर्वे करने के बाद शुरू होने वाला है परियोजना पर काम

केंद्र सरकार की इस योजना से सवा किलोमीटर लम्बे वैराज का निर्माण फोरलेन पुल व रेलवे ब्रिज के मध्य होगा। जिससे अयोध्या से लेकर गुप्तारघाट तक पवित्र सरयू जल का घाटो पर 365 दिन एक समान गति से अविरल प्रवाह रहेगा। वैराज का निर्माण इस तरह से होगा कि भविष्य में जलयान को गुजरने के लिए अपेक्षित मार्ग मिल सके। विभिन्न अवसरों पर लाखों श्रद्धालुओं की भीड़ सरयू स्नान के लिए उमड़ती है। रोजाना हजारों की संख्या में भक्त सरयू की धारा में स्नान करते है। वैराज का निर्माण होने के बाद राम की पैड़ी में सरयू जल का अविरल प्रवाह हो जायेगा। जिससे राम की पैड़ी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र बन जायेगी। अयोध्या में पयर्टन की सम्भावनाओं को इससे बल मिलेगा। वैराज के निर्माण व राम की पैड़ी को साफ सुन्दर व स्वच्छ बनाने की मांग अयोध्या के संतो से लेकर श्रद्धालुओं द्वारा की जा रही थी 21 दिसम्बर 2016 को जीआईसी के मैदान में आयोजित केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी की जनसभा के दौरान सरयू नदी पर वैराज निर्माण तथा अयोध्या की सांस्कृतिक सीमा चौरासी कोसी परिक्रमा मार्ग को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने की सांसद लल्लू सिंह की मांग पर सहमति जताते हुए केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने इसके निर्माण की घोषणा की थी।

Ad Block is Banned