BOI और UBI Bank ने किया Home, Car और Personal Loan के Interest Rates को किया सस्ता

  • UBI ने EBLR में 40 आधार अंकों की कटौती की घोषणा की
  • BOI ने Tenure Loan पर MCLR 0.25 फीसदी तक घटाई

By: Saurabh Sharma

Updated: 31 May 2020, 09:20 AM IST

नई दिल्ली। रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ( Reserve Bank of India Governor Shaktikant Das ) की घोषणा के बाद देश के सभी बड़े बैंकों की ओर से ब्याज दरों में कटौती करनी शुरू कर दी है। जो सिलसिला देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ( State Bank of India ) ने शुरू किया था, वो अभी आगे बढ़ रहा है। अब यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ( Union Bank of India ) की ओर से ईबीएलआर ( EBLR ) और बैंक ऑफ इंडिया ( Bank of India ) की ओर से एमसीएलआर ( MCLR ) में कटौती की घोषणा की है। जिसके बाद दोनों बैंकों के सभी तरह के लोन सस्ते हो गए हैं। आइए आपको भी बताते हैं कि आखिर दोनों बैंकों की ओर से ब्याज दरों में कितनी कटौती की गई है।

UBI ने की EBLR में कटौती
- यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट ( External Benchmark Lending Rate ) में 40 आधार अंकों की कटौती की घोषणा की।
- इसके बाद ईबीएलआर 6.80 फीसदी हो गया।
- बैंक ने यह कटौती आरबीआई द्वारा हाल ही में रेपो रेट में किए गए बदलाव के मद्देनजर की है।
- संशोधित दरें एक जून, 2020 से लागू होंगी।
- विभिन्न स्कीमों के लिए प्रभावी दरें उत्पाद के लिए ईबीएलआर प्लस प्रीमियम/डिस्काउंट पर होंगी।
- यूबीआई ने आरबीआई के दिशानिर्देशों के अनुसार, खुदरा और सूक्ष्म एवं लघु उद्यम सेगमेंट को नई दर के सभी ऋणा के लिए ईबीएलआर आधारित ब्याज दरें पेश की थीं।
- इसलिए पहली अक्टूबर, 2019 से सभी नई दर के ऋणों को आरबीआई की नीतिगत रेपो दर से जोड़ दिया गया है।
मझौले उद्यम को भी आरबीआई नीतिगत दर से 1 अप्रैल से जोड़ दिया गया है।

BOI ने MCLR दरों में की कटौती
- बैंक ऑफ इंडिया ने सभी टेन्योर लोन पर एमसीएलआर को 0.25 फीसदी घटाने की घोषणा की है।
- इस कदम के बाद होम लोन, ऑटो लोन और सभी प्रकार के एमएसएमई लोन लेना सस्ता होगा।
- नई ब्याज दरें एक जून 2020 यानी अगले सोमवार से प्रभावी हो जाएंगी।
- बैंक की नई ब्याज दरें लागू होने के बाद एक साल की अवधि के लोन पर सालाना ब्याज दर घटकर 7.70 फीसदी रह जाएगा। अभी यह 7.95 फीसदी है।
- इसी तरह छह महीने की अवधि वाले लोन की ब्याज दर 7.60 फीसदी और मासिक ऋण की ब्याज दर 7.50 फीसदी होगी।
- बैंक ने कहा कि उसने रिजर्व बैंक के रेपो दर से जुड़े ऋणों की ब्याज दर भी 0.40 फीसदी घटाकर 6.85 फीसदी कर दी गई है।

Show More
Saurabh Sharma Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned