दिल्ली के इमामों की सैलरी में 80 फीसदी का इजाफा, अब मिलेंगे 18 हजार रुपए प्रति माह

दिल्ली के इमामों की सैलरी में 80 फीसदी का इजाफा, अब मिलेंगे 18 हजार रुपए प्रति माह

Saurabh Sharma | Updated: 24 Jan 2019, 02:42:51 PM (IST) फाइनेंस

दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन अमानतुल्लाह खान ने सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में सैलरी में इजाफे का एेलान किया है।

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में इमामाें के लिए बड़ी खुशखबरी अार्इ है। दिल्ली वक्फ बोर्ड ने मस्जिदों के इमामों आैर मुअज्जिनों की तनख्वाह में इजाफा कर दिया है। दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन अमानतुल्लाह खान ने सीएम अरविंद केजरीवाल की मौजूदगी में सैलरी में इजाफे का एेलान किया है। इस एेलान के बाद अब देश के इमामों की सैलरी 10 हजार रुपए से बढ़कर 18 हजार रुपए हो जाएगी। वहीं मुअज्जिनों की तनख्वाह 9 हजार से बढ़ाकर 16 हजार कर दी गई है। आइए आपको भी बताते हैं कि इमामों को बढ़ी हुर्इ सैलरी कब से मिलेगी…

फरवरी माह से मिलेगा फायदा
दिल्ली वक्फ बोर्ड के चेयरमैन ने बताया कि मस्दिज के सभी कर्मचारियों को फरवरी से बढ़ी हुई सैलरी मिलनी शुरू हो जाएगी। मौजूदा समय में दिल्ली में 300 ऐसी मस्जिद हैं, जहां पर दिल्ली वक्फ बोर्ड की आेर से इमामों को तनख्वाह बांटी जाती। वहीं दूसरी आेर दिल्ली में 1500 मस्जिदें ऐसी भी हैं, जहां वक्फ बोर्ड का नियंत्रण नहीं है, लेकिन बोर्ड ने फैसला लिया है कि इन मस्जिदों के इमामों को अब 14 हजार रुपए सैलरी दी जाएगी और मोअज्जिन को 12 हजार रुपए मिलेंगे।

न्यूनतम सैलरी हुई 14 हजार रुपए
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वो दिल्ली वक्फ बोर्ड के फैसले का सम्मान करते हैं। उनकी सरकार वक्फ बोर्ड की बेहतरी के लिए हर संभव मदद के लिए हमेशा से तैयार है। वक्फ बोर्ड चेयरमैन के अनुसार वो खुद सैलरी बढ़ाने के पक्ष में थे। लेकिन दो साल तक बोर्ड भंग था। इसलिए ऐसा संभव नहीं हो सका। उनके मुताबिक दिल्ली में अब न्यूनतम सैलरी भी बढ़कर 14 हजार रुपए हो गई है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned