01 अगस्त से ICICI बैंक से पैसा निकालना हो जाएगा महंगा, लिमिट से ज्यादा पैसा निकालने पर देना पड़ेगा सरचार्ज

 

 

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के बाद अब ICICI Bank ने भी अपने ग्राहकों को झटका देने का मन बना लिया है। अब नियमों से ज्यादा कैश ट्रांजेक्शन और एटीएम से पैसा निकालने पर ग्राहकों को सरचार्ज देना होगा।

By: Dhirendra

Updated: 06 Jul 2021, 06:44 PM IST

नई दिल्ली। हाल ही में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ( SBI ) द्वारा ट्रांजेक्शन नियमों मे बदलाव के बाद अब ICICI Bank ने भी अपने ग्राहकों की जेब से पैसा निकालने का मन बना लिया है। 01 अगस्त 2021 से आईसीआईसीआई बैंक के एटीएम से पैसा निकालना और नगद कैश निकालना महंगा होने वाला है। इतना ही नहीं, चेकबुक के नियमों में भी बदलाव होने वाला है। ICICI की ओर से अपने ग्राहकों को 4 फ्री ट्रांजेक्शन की सर्विस दी जाती है। 4 बार पैसा निकालने के बाद आपको चार्ज देना होगा।

Read More: ICICI बैंक में अकाउंट है तो हो जाएं सावधान! ग्राहकों को नुकसान से बचाने लिए बैंक ने जारी किया ये अलर्ट

ये नियम 01 अगस्त 2021 से माने जाएंगे प्रभावी

1. एक अगस्त से ICICI Bank के ग्राहकों अपनी होम ब्रांच से एक लाख रुपए प्रति दिन निकाल सकते हैं।

2. इससे ज्यादा की निकासी होने पर 5 रुपए प्रति 1,000 के दर से सरचार्ज देना पड़ेंगा।

3. होम ब्रांच के अलावा दूसरी ब्रांच से पैसा निकालने पर प्रतिदिन 25,000 रुपए तक कैश निकालने पर चार्ज नहीं है। उसके बाद 1000 रुपए निकालने पर 5 रुपए सरचार्ज देना होगा।

4. 25 पेज की चेकबुक फ्री होगी। इसके बाद में आपको 20 रुपए प्रति 10 पन्नों की अतिरिक्त चेकबुक के लिए देना होगा

5. बैंक की वेबसाइट के मुताबिक ATM इंटरचेंज ट्रांजेक्शन पर भी चार्ज लगेगा। एक महीने में 6 मेट्रो लोकेशन पर पहले 3 ट्रांजेक्शन फ्री होंगे। एक महीने में अन्य सभी स्थानों पर पहले 5 लेनदेन मुफ्त होंगे। 20 रुपये प्रति वित्तीय लेनदेन और 8.50 रुपए प्रति गैर-वित्तीय लेनदेन पर ग्राहकों को भुगतान करना होगा।

2 दिन पहले आईसीआईसीआई ने ग्राहकों को दी इस बात की सलाह

दो दिन पहले यानि चार जुलाई 2021 को आईसीआईसीआई बैंक ने इसी तरह के बैंकिंग फ्रॉड से ग्राहकों को बचाने के लिए अलर्ट जारी किया था। बैंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल के जरिए साइबर ठगों द्वारा सिम स्वैपिंग के लिए ग्राहकों को खासतौर से आगाह किया था। बैंक के मुताबिक साइबर ठग आपके रजिस्टर्ड नंबर से एक नया सिम जारी कराकर उस पर आने वाले सभी फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन की जानकारी और ओटीपी आदि हासिल कर लेते हैं। इस तरीके से किसी के भी अकाउंट से पैसे आसानी से निकाले जा सकते हैं। आईसीआईसीआई ने अपने ग्राहकों से कहा है कि अगर मोबाइल बैंकिंग ( mobile banking ) का इस्तेमाल करते समय लंबे समय तक आपके फोन में सिगनल न रहे तो मोबाइल नेटवर्क आपरेटर से संपर्क करना जरूरी है। असाधारण मैसेज या अननोन अलर्ट आने पर भी सतर्क रहने की जरूरत है।

Read More: दूसरी तिमाही में रिकॉर्ड 40% गिरा बिटक्वाइन, निवेशकों की बढ़ी मुसीबत

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned