Post Office : 100 रुपए के मामूली निवेश से लाखों रुपए बनाने का मौका, जानें कौन-सी है बेस्ट स्कीम

  • Post Office Scheme : नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट में निवेश के जरिए आप अच्छी बचत कर सकते हैं, इसकी मैच्योरिटी अवधि 5 साल की है
  • आप चाहे तो इस स्कीम को 5 बार पांच-पांच साल के लिए आगे बढ़ा सकते हें

By: Soma Roy

Published: 10 Sep 2020, 02:49 PM IST

नई दिल्ली। डाकघर (Post Office) की ज्यादातर स्कीम्स में पैसा लगाना लोग सुरक्षित समझते हैं। क्योंकि इसमें गारंटी के साथ पैसा बढ़ता है। साथ ही निवेश में रकम के डूबने का खतरा नहीं रहता है। अच्छी बात यह है कि डाकखाने में छोटी बचत वाले भी कई स्कीम हैं जिनमें निवेश पर लाखों का फायदा हो सकता है। इन्हीं में से एक है नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (National Savings Certificate)। इसमें आप 100 रुपए से भी खाता खोल सकते हैं।

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट में आपको में 6.8 फीसदी सालाना रिटर्न मिलेगा। इसकी मैच्योरिटी अवधि 5 साल की है, लेकिन आप इसे पांच-पांच साल के लिए 5 बार आगे बढ़ा सकते हैं। लांग टाइम के लिए ऐसा इंवेस्ट (Invest) करने पर आपकी छोटी-सी जमापूंजी लाखों में तब्दील हो सकती है। इस योजना के तहत आप 100, 500, 1000, 5000 और 10 हजार रुपए से निवेश कर सकते हैं। वैसे इसमें अधिकतम सीमा नहीं है इसलिए आप चाहे तो इससे भी ज्यादा रकम इंवेस्ट कर सकते हैं। बहुत से लोग रिटायरमेंट के बाद मिलने वाली एक मुश्त रकम को इसमें जमा करते हैं। इससे उन्हें अच्छा रिटर्न मिलता है।

अगर किसी व्यक्ति ने इस स्कीम में 15 लाख रुपए इंवेस्ट किए हैं तो उस पर 5 साल के लिए 6.8 फीसदी का ब्याज लगेगा। इस लिहाज से मैच्योरिटी पर उसे 20.85 लाख रुपए मिलेंगे यानि उसे लगभग 6 लाख रुपए का फायदा होगा। अगर आप इस स्कीम को लगातार आगे बढ़ाते रहते हैं तो आप करोड़पति बन सकते हैं। NSC को किसी भी भारतीय डाकघर से खरीदा जा सकता है। वैसे इस पर लगने वाली ब्याज दर वित्त मंत्रालय के निर्देश पर बदलती रहती है। इस योजना की एक और खासियत यह है कि इसमें 1.5 लाख रुपए तक के सालाना निवेश पर टैक्स में छूट भी मिलती है। NSC को सभी बैंकों और NBFC द्वारा लोन के लिए कोलैटरल या सिक्योरिटी के रूप में स्वीकार किया जाता है।

Show More
Soma Roy
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned