पुणे में पकड़े गए 3 करोड़ रुपए के 500 आैर 1000 रुपए के नोट

पुणे में नेता समेत पांच लोगों को 1000 अौर 500 रुपए के पुराने नोटों के साथ पकड़ा गया है, इन नोटों की कुल कीमत 3 करोड़ रुपए थी।

By: Saurabh Sharma

Updated: 21 Jul 2018, 09:38 AM IST

नर्इ दिल्ली। नोटबंदी को दो साल पूरे होने जा रहे हैं, उसके बाद भी 500 आैर 1000 रुपए की पुरानी करंसी पकड़ी जा रही है। ताज्जुब की बात तो यह है कि यह करंसी हजारों रुपयों में नहीं करोड़ों रुपए में हैं। इस बार तो नोटों के साथ लोग भी पकड़े गए हैं। जिसमें देश द्वारा चुने हुए नेता भी शामिल हैं। इस बार जो घटना सामने आर्इ है वो पुणे की है। जिसमें एक पार्षद का नाम भी शामिल होना बताया गया है।

पुणे का है मामला
गुरुवार को पुणे के रविवार पेठ इलाके में 3 करोड़ के पुराने नोटों के साथ पार्षद सहित सहित पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। यह कार्रवाई खड़क पुलिस ने गुरुवार देर रात की है। पुलिस के मुताबिक, गिरफ्तार लोगों में संगमनेर के पार्षद गजेंद्र बजाबा अभंग भी शामिल हैं। खड़क पुलिस को सूचना मिली थी कि कुछ लोग पुराने नोटों से भरे बैग लेकर पुणे आए हैं, जिसके आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने देर रात पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया।

इन लोगों को किया गया है गिरफ्तार
गिरफ्तार लोगों में गजेंद्र बजाबा अभंग (47, संगमनेर) के अलावा विजय अभिमन्यु शिंदे (38, खड़की), आदित्य विश्वास चव्हाण (25, मुलशी), सुरेश पांडुरंग जगताप (40, फलटण, सातारा) और नवनाथ काशिनाथ भंडागले शामिल हैं। ताज्जुब की बात तो ये है कि गजेंद्र बजाबा अभंग एक पार्षद हैं। ये किस पार्टी से पार्षद हैं अभी इस बात का खुलासा नहीं हो सका है।

गजेंद्र आए नोट बदलने
खड़क पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र मोकाशी ने बताया कि नगरसेवक गजेंद्र सहित सभी पुराने नोटों को बदलने के लिए पुणे आए थे। उनके पास से 500 और 1000 रुपए के पुराने नोट बरामद किए गए हैं। मामले की जांच जारी है। पुलिस इस कार्रवार्इ को बड़ी सफलता मानकर चल रही है।

आैर कितने नोट हैं बाकी
अब सवाल ये है कि मार्केट में आैर कितने पुराने नोट आैर बचे हैं, जो लोगों के पास मौजूद हैं। साथ बदलने के लिए बाहर निकाले जा रहे हैं। जानकारों की मानें तो इस कार्रवार्इ के बाद यह बात साफ हो गर्इ है अभी भी पुराने नोटों को बदलने का काम अवैध तरीके से जारी है। जिसमें बड़े लोगों का हाथ भी हो सकता है।

Show More
Saurabh Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned