एक से ज्यादा बैंक अकाउंट होने पर होता है नुकसान, जानें इससे जुड़े नियम

कई बार तो लोग पुराने अकाउंट्स को बंद कराने की जरूरत भी नहीं समझते लेकिन वहीं आपको सबसे ज्यादा नुकसान कर सकता है।

By: Pragati Bajpai

Updated: 07 Apr 2020, 08:25 AM IST

नई दिल्ली- आजकल हर नौकरी को बदलने के साथ एक नया बैंक अकाउंट खुलवाना पड़ता है और इस प्रोसेस में कई सारे अकाउंट्स हो जाते हैं । यहां तक कि कई बार तो लोग पुराने अकाउंट्स को बंद कराने की जरूरत भी नहीं समझते लेकिन वहीं आपको सबसे ज्यादा नुकसान कर सकता है। अगर आपका भी एक से ज्यादा खाता है और वह निष्क्रिय हो गया है तो उन्हें बंद करा दीजिए. नहीं तो आने वाले समय में बड़ा नुकसान हो सकता है। आपको नुकसान हो उससे पहले मल्टीपल अकाउंट्स के बारे में कुछ नियम जान लें-

कोरोना वायरस इंश्योरेंस क्लेम में लाएं तेजी, पीडितों को जल्द पैसा देने के आदेश

सैलरी अकाउंट में अगर 3 महीने तक सैलरी नहीं आती है तो बैंक उसे सेविंग अकाउंट में बदल देता है। सेविंग अकाउंट में तब्दील होने से खाते को लेकर बैंक के नियम बदल जाते हैं। दरअसल बैंक के नियम के मुताबिक, सेविंग अकाउंट में एक न्यूनतम राशि मेनटेन करनी जरूरी है। अगर, आप आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो आपको पेनॉल्टी देनी पड़ सकती है। कई बार आपके खाते में आने वाली रकम से ये पेनॉल्टी काट ली जाती है।

आपके खाते में न्यूनतम बैलेंस मेनटेन नहीं होने से क्रेडिट स्कोर खराब होता है। इसलिए कभी भी निष्क्रिय खाते को हल्के में न लें और नौकरी छोड़ने के साथ ही उस खाते को बंद करा दें।

एक से ज्यादा बैंक अकाउंट होने की सूरत में टैक्स जमा करने में बेकार का टाइम जाया होता है। क्‍सर उनके स्टेटमेंट का रिकॉर्ड जुटाना काफी पेचीदा काम हो जाता है

Pragati Bajpai
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned