मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना: भ्रष्टाचार का खुलासा करने पर बीडीओ ने पत्रकार के खिलाफ दर्ज करा दिया मुकदमा, देखें वीडियो

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना: भ्रष्टाचार का खुलासा करने पर बीडीओ ने पत्रकार के खिलाफ दर्ज करा दिया मुकदमा, देखें वीडियो
dm

arun rawat | Updated: 13 Jul 2019, 02:00:24 PM (IST) Firozabad, Firozabad, Uttar Pradesh, India

— मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह की कवरेज करने गए पत्रकार ने जब कमियों को दिखाया तो सत्ता के दबाव में बीडीओ ने दर्ज करा दिया मुकदमा।

— भाजपा जिलाध्यक्ष पर लगा पत्रकार के कैमरे और परिचय पत्र छींनने का आरोप, पत्रकारों ने की डीएम और एसएसपी से शिकायत।

फिरोजाबाद। योगी सरकार में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ खतरे में नजर आ रहा है। कवरेज करने गए पत्रकार के साथ अभद्रता की गई। यहां तक कि उसका कैमरा और आईकार्ड भी छींन लिया। इससे भी मन नहीं भरा तो थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया। जब पीड़ित पत्रकार रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचा तो उसको भगा दिया। मामले को लेकर पत्रकार जगत में रोष व्याप्त है। पत्रकारों ने मामले को लेकर डीएम और एसएसपी से शिकायत की है।

यह भी पढ़ें—

UP police के सिपाहियों के कारनामे हैरान करने वाले, योगी सरकार ने नौकरी से निकाला

 

 

खैरगढ़ क्षेत्र का है मामला
मामला दो दिन पुराना है। थाना खैरगढ़ क्षेत्र में सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया था। इस आयोजन की कवरेज के लिए एक अखबार के पत्रकार राहुल तिवारी वहां गए थे। उनके मुताबिक सामूहिक विवाह में एक व्यक्ति की दोबारा शादी की जा रही थी। वहीं दो से तीन फेरे कराकर शादी का मजाक बनाया जा रहा था। उन्होंने इसकी कवरेज करने के बाद जब खंड विकास अधिकारी हाथवंत से उनका पक्ष जानना चाहा तो वह नाराज हो गईं और भला बुरा कहने लगीं।

यह भी पढ़ें—

Compulsory Retirement: 22 पुलिस वाले जबरन रिटायर किए गए, विभाग पर बोझ थे...

जिलाध्यक्ष ने छींन लिया कैमरा
पत्रकार का आरोप है कि बीडीओ ने इसकी जानकारी भाजपा जिलाध्यक्ष मानवेन्द्र को दी तो उन्होंने पत्रकार को बुलाकर उसका कैमरा और आईकार्ड छींन लिया। भला बुरा कहते हुए वहां से भगा दिया। उसके बाद पत्रकार घर वापस आ गया। रात्रि को बीडीओ ने पत्रकार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया। रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पत्रकार दूसरे दिन सुबह तहरीर लेकर थाने गया लेकिन पुलिस ने उनकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की।

यह भी पढ़ें—

Murder in Love पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति को मार डाला, शव नहर में फेंका

डीएम से मिले पत्रकार
मामले को लेकर पत्रकार संघ का एक प्रतिनिधि मंडल डीएम चन्द्र विजय और एसएसपी सचिन्द्र पटेल से मिला। डीएम ने आश्वासन दिया है कि मामले की पूरी जांच कराई जाएगी। जो भी दोषी होगा उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। वहीं एसएसपी का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। फिलहाल बीडीओ की तहरीर पर पत्रकार के खिलाफ सरकारी कार्य में बाधा डालने की धारा में मुकदमा दर्ज कराया गया है। जांच के बाद कुछ कहा जा सकेगा।

यह भी पढ़ें—

Loot In Firozabad: फौजी की लाइसेंसी पिस्टल और मोटरसाइकिल चोरी करने वाले दो चारों को पुलिस ने पकड़ा, देखें वीडियो

पत्रकारों ने दी चेतावनी
मामले को लेकर पत्रकारों ने चेतावनी दी है कि खुलेआम पत्रकारों का हनन किया जा रहा है। उनकी स्वतंत्रता पर पाबंदी लगाई जा रही है। अधिकारी मनमानी कर रहे हैं। चौथे स्तंभ का गला घोंटने का काम किया जा रहा है। यदि पत्रकार पर लगाए गए मुकदमे को वापस नहीं लिया गया तो मजबूरन पत्रकार अनिश्चित कालीन धरने परा बैठेंगे। इसकी जिम्मेदारी पुलिस और प्रशासन की होगी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned