एसएसपी ने दी छात्रों को पटाखों से सुरक्षा की जानकारी

एसएसपी ने दी छात्रों को पटाखों से सुरक्षा की जानकारी

Santosh Pandey | Publish: Oct, 13 2017 08:14:22 PM (IST) Firozabad, Uttar Pradesh, India

बड़े जन की निगरानी में ही बच्चे करें आतिशबाजी

फिरोजाबाद। जब दिपावली का त्योहार नजदीक हो तो पटाखों की बात होना लाजिमी हो जाती है। ऐसे में प्रशासन की भी जिम्मेदारी बढ़ जाती है। शुक्रवार को फिरोजाबाद के एसएसपी डाॅ. मनोज कुमार दीपावली के त्यौहार में पटाखों के प्रति जागरुक करने कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय मक्खनपुर पहुंचे। जहां उन्होंने बालिकाओं और स्कूल की शिक्षिकाओं को दीपावली के पर्व की बधाई दी। गौरतलब है कि यह स्कूल पूर्व एसएसपी अजय कुमार पांडे ने गोद लिया था। उनके अथक प्रयासों से विद्यालय की सूरत बदल गई थी। उनके सहयोग के रूप में नगर के समाजसेवियों और प्रमुख संस्थानों ने विद्यालय की सूरत बदलने में पूरा सहयोग किया था।

एसएसपी ने कहा कि त्यौहार आपसी भाई चारा और प्रेम को बढ़ाने में सहायक होते हैं। यह रंग बिरंगी रोशनी में नहाने का त्यौहार है। दीपावली के पर्व पर आतिशबाजी करते समय बच्चे अपना ख्याल रखें। किसी बड़े जन की निगरानी में ही आतिशबाजी करें। गौरतलब है कि पटाखों के बिकने न बिकने पर पूरे देश में बहस छिड़ी है।

तेज धमाकों वाले पटाखों से बचें

उन्होंने कहा कि बच्चों को तेज धमाके वाले पटाखों से दूर रहना चाहिए। तेज धमाके हमारे कान और शरीर के लिए नुकसान देेह हैं। इनसे पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचता है। दीपालवी के दौरान प्रदूषण बढने से दौरे, रक्तचाप, दमा, श्वांस, एलर्जी, ब्रोंकाइटिस और निमोनिया जैसी बीमारियां फैलने का खतरा बढ़ जाता है। कभी-कभी तेज धमाकों से कान का पर्दा फटने का डर बना रहता है। धमाके वाले पटाखों से वातावरण में 15 डेसीबल आवाज का स्तर बढ़ जाता है।

प्रदूषण से बचने को करेंगे जागरूक

एसएसपी ने कहा कि पटाखों से होने वाले ध्वनि और वायु प्रदूषण के लिए जागरूक करना होगा। इसके लिए फायर ब्रिगेड, विद्यालयों के छात्र-छात्राओं को भी प्रदूषण के प्रति जागरूक किया गया। इस दौरान विद्यालय की छात्राओं के साथ ही शिक्षक-शिक्षिकाएं और आस-पास के लोग मौजूद रहे।

Ad Block is Banned