ट्रॉमा सेंटर में गायब हुई बिजली, हाथों से पंखे हिलाते नजर आए तीमारदार, एक मरीज की मौत

— जिला अस्पताल में हद दर्जे की लापरवाही के चलते मरीज और तीमारदारों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

By: arun rawat

Published: 05 May 2021, 07:15 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
फिरोजाबाद। कोरोना काल में शहर के जिला अस्पताल के अंदर हद दर्जे की लापरवाही सामने आ रही है। कुछ ऐसा ही नजारा बुधवार को शहर के जिला अस्पताल में देखने को मिला। जहां दो घंटे तक बिजली गायब रहने के बाद एक मरीज ने दुनियां को अलविदा कह दिया। वहीं, तीमारदार मरीजों की हाथ से हवा करते नजर आए। मृतक के परिजनों का कहना था कि करीब दो घंटे तक अस्पताल में बिजली नहीं आई जबकि जनरेटर भी था, उसे चालू नहीं कराया गया।
यह भी पढ़ें—

रोडवेज बस के रंग में रंगी प्राइवेट बस भर रहीं थीं हाईवे पर फर्राटा, एआरटीओ ने की बड़ी कार्रवाई

मां की तबियत खराब थी
मेडिकल काॅलेज का हिस्सा सरकारी ट्रॉमा सेंटर में तीमारदार विनोद ने बताया कि वह जलेसर से आया है। मांं सुुमन की तबियत खराब होने पर उन्हें यहां भर्ती कराया गया था। दो घंटे से अधिक समय हो गया बिजली गए लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इस बीच बिजली जाने की वजह से उनकी मां पर आॅक्सीजन मशीन लगी थी वह बंद हो गई और उनकी मां की मौत हो गई।

मौके पर पहुंचे सीएमएस
जानकारी होने पर सीएमएस डॉ. आलोक कुमार मौके पर पहुंचे और उन्होंने जनरेटर चालू करवाया। इस मामले को लेकर सीएमएस ने बताया कि बिजली में फॉल्ट हो गया था। करीब आधा घंटे बिजली ठीक करने में लगा। जैसे ही जानकारी हुई जनररेटर चालू करवा दिया गया लेकिन महिला की हालत गंभीर होने पर उसकी मौत हो गई। बता दें कि इससे पहले भी अस्पताल में लापरवाही के चलते हंगामे होते रहे हैं।

Show More
arun rawat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned