पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट : दिखने लगे बरसात के साईड अफेक्ट

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट : दिखने लगे बरसात के साईड अफेक्ट

Ajay Khare | Publish: Sep, 07 2018 07:16:28 PM (IST) | Updated: Sep, 07 2018 07:16:29 PM (IST) Gadarwara, Madhya Pradesh, India

कॉलोनियों में भरा पानी, गिरा पेड़ एवं मकान, सड़क किनारे फंसा वाहन

गाडरवारा। बुधवार से जारी बरसात का क्रम शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन भी रुक रुक कर जारी रहा। बरसात से जहां किसानों में हर्ष देखा जा रहा है। तापमान में गिरावट हो गई है। वहीं लगातार तीन दिनों से हो रही बरसात से अंचल में कई प्रकार की अव्यवस्थाएं भी दिखने लगी हैं। निरंतर बरसात के साईड अफेक्ट समस्याओं के रूप में सामने आने लगे हैं। गौरतलब रहे कि नरसिंहपुर जिले में एक जून से 6 सितम्बर तक की अवधि में औसत रूप से कुल 866.8 मिमी वर्षा दर्ज की गई है। छह सितम्बर की सुबह तक बीते 24 घंटे की अवधि में जिले में औसतन 51 मिमी वर्षा हुई। जिसमें तहसील गाडरवारा में 84 मिमी वर्षा आंकी गई। चालू बरसात के मौसम में छह सितम्बर तक गाडरवारा में 733 मिमी वर्षा आंकी गई है। इसके उपरांत सात सितंबर तक जिले का वर्षा का आंकड़ा 844 पर पहुंच गया वहीं गाडरवारा में 20 मिमी वर्षा हुई। तहसील में अब तक 753 मिमी बरसात हो चुकी है। शुक्रवार दोपहर बाद झमाझम पानी बरस रहा था।
जन स्वास्थ्य हो रहे प्रभावित
बरसात के चलते जरा से भीगने पर ही घरों घर लोग वायरल फीवर, सर्दी जुकाम की चपेट में आकर बिस्तरों पर पड़े हैं। निजी चिकित्सकों के क्लीनिकों से लेकर सरकारी अस्पताल की ओपीडी में मरीजों की भीड़ है। जिसमें संक्रमण, मौसमी बीमारियों के मरीज ज्यादा आ रहे हैं। वहीं खून की जांच में अनेक लोग मलेरिया पीजीटिव भी बताए जा रहे हैं।
सड़क किनारे फंस रहे वाहन
बरसात से सड़कों के किनारे कीचड़ हो गई है। इसमें सबसे अधिक परेशानी पिपरिया गाडरवारा रोड पर हो रही है। यहां गर्मी के दिनों में सड़क का रिन्यूवल कोट कराया गया था। लेकिन सड़क बनाने के बाद किनारे की साईड सोल्डरों में भराई नहीं की गई थी। इससे मुरुम के अभाव में जहां गर्मी के दिनों में सड़क किनारे नीचे रहने से अनेक जानलेवा वाहन दुर्घटनाएं हुईं। वहीं बरसात में सड़क किनारे बेहद कीचड़ मच रही है। इससे साइड देने जो भी वाहन उतर रहे हैं, उनके फंसने से यातायात में अवरोध हो रहा है। ऐसे ही शुक्रवार को टर्न होने के दौरान मंडी के थोड़े आगे पिपरिया रोड पर एक ट्रेक्टर सड़क किनारे मिटटी में फंस गया। बीच सड़क पर आड़ा ट्रक खड़ा रहने से देर तक राहगीरों को आने जाने में परेशानी हुई।
बाल बाल बचे राहगीर, रोड पर जा गिरा पेड़
पिपरिया रोड पर ही शुक्रवार को नगर के नजदीक सोयाबीन प्लांट के पास भीषण बारिश के कारण एक विशालकाय पेड़ रोड पर गिर गया। उसके ठीक आगे पीछे वाहन आ रहे थे, गनीमत रही समय रहते सभी वाहन चालक सर्तक हो गए जिससे कोई दुर्घटना नहीं हुई। इसी तरह गाडरवारा साईखेड़ा रोड पर भी सड़क किनारे कई क्षतिग्रस्त जर्जर पेड़ खड़े हैं। जिनको गिराना आवश्यक है। लेकिन शासन प्रशासन ध्यान नही देता।
बीजासेन वार्ड में गिरा पुराना मकान
निरंतर बरसात के चलते पानी बैठने से पुराने मकान गिरने का क्रम जारी हो जाता है। इसी क्रम में गुरुवार शाम स्थानीय बीजासेन वार्ड साहू मोहल्ला में अवधेश महाराज का पुश्तैनी दोमंजिला पुराना मकान धराशायी हो गया। यहां भी मकान गिरने से किसी को कोई चोट नहीं पहुंची।
एमपीईबी कॉलोनी तालाब में तब्दील, वार्डवासियों की बढ़ी मुश्किल
नगर के एमपीईबी कॉलोनी वासियों को हर वर्ष बरसात मुसीबतें लेकर आती है। जरा सी बरसात होते ही निकासी के अभाव में जहां तहां पानी भर जाता है। कई सालों से वार्डवासी समस्याएं झेल रहे हैं। नपा द्वारा कुछ उपाय किए गए। लेकिन अभी भी वार्डवासियों को समस्याओं से निजात नहीं मिली है। इसी प्रकार गुरुवार को तेज बरसात के चलते कॉलोनी में सड़कों पर भारी पानी जमा हो गया। वार्डवासियों के अनुसार यहां अधिकतर भाग में सड़कों एवं पक्की नाली का अभाव बना है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned