18 लोगों के कोरोना संक्रमित मिलने से घटारानी, जतमई क्षेत्र के लोगों में दहशत

- घटारानी मंदिर में फिर लगा ताला.

By: Bhupesh Tripathi

Published: 20 Jul 2020, 10:28 PM IST

गरियाबंद. गरियाबंद जिले व प्रदेश के विश्व प्रसिद्ध मां जतमई धाम एवं मां घटारानी मंदिर में कोरोना संकट का साया पैर पसार चुका है। इसकी पुष्टि तब हुई जब बीते दिनों रविवार को रायपुर शांति नगर के एक ही परिवार के 18 सदस्यों को कोरोना पॉजिटिव की पुष्टि हुई। इसके बाद से सोशल मीडिया एवं समाचार चैनलों पर यह खबर प्रकाशित होने के बाद घटारानी जतमई क्षेत्र में दहशत का माहौल रहा।

बता दें कि यहां बीते कुछ दिनों से और माह से लोगों की भारी भीड़ आ रही है। जो हर साल यहां लगती है। पर इस बार कोरोना का संकट होने की वजह से सुरक्षा जरूरी है, पर जिला प्रशासन एवं सेवा समिति द्वारा सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं किए गए। उसी का नतीजा है कि रायपुर का यह परिवार जतमई घटारानी घूम कर चला गया और न जाने किस-किस को यह बीमारी बांट कर चला गया। जो जांच का विषय है? यह परिवार पिछले रविवार को घटारानी जतमई मंदिर में झरने में नहाया, दुकानों में खरीदारी की, होटल में नाश्ता भी किया। ऐसे में बहुत से लोग इनके संपर्क में आए होंगे, जिनका कोई सोर्स नहीं, न ही कोई रिकॉर्ड।

बता दें कि बरसात के आते ही जतमई घटारानी मंदिर में झरना में नहाने एवं प्रकृति का आनंद लेने रायपुर, दुर्ग, भिलाई, धमतरी, महासमुंद, बिलासपुर बस्तर सरगुजा अन्य राज्य के लोग यहां घूमने फिरने आते हैं और मस्ती में चूर लोग वर्तमान में चल रहे वैश्विक बीमारी कोविड-19 कोरोना वायरस के भय से मुक्त होकर नियमों की धज्जियां उड़ाते हुए बिना मास्क लगाए, सोशल डिस्टेंसिंग की अनदेखी और बिना सेनिटाइजर व अन्य उपाय न कर नियमों की अनदेखी करते हैं।

'पत्रिका' ने चेताया था
उल्लेनीय है कि इस बारे में 14 जुलाई को 'पत्रिका' ने 'कहीं जिंदगी पर भारी न पड़ जाए, यह मौज-मस्ती' इस शीर्षक से खबर प्रकाशित कर स्थानीय प्रशासन को चेताया भी था। इसकी अनदेखी का नतीजा जिसका क्षेत्रवासियों को डर था वहीं हुआ। 18 मरीजों के कोरोना संक्रमित मिलने के बाद से मंदिर समिति मां के सदस्य एवं पदाधिकारियों ने बीमारी की गंभीरता को देखते हुए शनिवार को बैठक बुलाई और मंदिर को पूर्णता बंद करने का निर्णय लिया।

इस बारे में मां घटारानी सेवा समिति के अध्यक्ष तारण सिंह धरो ने बताया जैसे हमें पता चला कि रायपुर के परिवार जिन्हें कोरोना पॉजिटिव पाया गया है, वे घटारानी आए थे। हमने समाचार चैनल में देखा और तत्काल समिति की बैठक बुलाई जिसमें हम लोगों ने मंदिर को बंद करने का निर्णय लिया है। और 4 जगहों पर बैरिकेड लगाकर मंदिर आने-जाने वालों को एवं दुकानदारों को मनाही की है। साथ ही शनिवार को फिंगेश्वर पुलिस ने आकर लोगों को बिना मास्क के झरने का आनंद ले रहे लोगों को खदेड़ा।
वहीं जतमई सेवा समिति के सचिव नारायण साहू से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा समिति की बैठक रविवार को बुलाई है। उसमें सब निर्णय लेंगे और जिला प्रशासन को अवगत करा कर मंदिर को बंद कराने और लोगों की जान बचे और शासन को अवगत करा कर निर्णय दिया जाएगा।

तैनात रहेंगे जवान
छुरा थाने पर प्रभारी राकेश जगत से चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि शनिवार और रविवार को हमारे जवान तैनात रहेंगे और नियम की अनदेखी करने वालों को कार्रवाई की जाएगी। क्षेत्र के ग्रामीणों ने मंदिर समितियों से अपील की है कि इस संकट को देखते हुए दुकानदारी, मंदिर आदि बंद किया जाए। ताकि क्षेत्र के लोग सुरक्षित रहें। अगर ऐसा नहीं किया जाएगा तो हम लोग आसपास के गांव वाले जतमई जाने वाले मार्ग पर बैरिकेट्स लगा देंगे ताकि हमारा गांव और क्षेत्र सुरक्षित रहे।

Corona virus COVID-19 virus
Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned