गाजियाबाद हादसा- अचानक घटना स्थल पर इस अधिकारी के पहुंचने से मचा हड़कंप, कई अधिकारियों पर गिरी गाज, दिए तुरंत जांच के आदेश

4 जूनियर इंजीनियर को बताया दोषी हैं होगी कड़ी कानूनी कार्रवाई

By: Ashutosh Pathak

Published: 24 Jul 2018, 09:25 AM IST

गाजियाबाद। गाजियाबाद के थाना मसूरी इलाके में हुए बिल्डिंग हादसे के बाद चल रहा रेस्क्यू ऑपरेशन सोमवार शाम समाप्त कर दिया गया। इस हादस में 2 लोगों की मौत हुई, जिसमें एक 6 साल के बच्चे का शव भी बरामद किया गया। जबकि 8 लोग घायल हुए। वहीं अब प्रशासन इसकी जांच में जुट गया है। इसके तहत गाजियाबाद में कई अधिकारियों पर गाज भी गिरी है। साथ ही कई को कारण बताओ नोटिस भी थमाया गया है।

ये भी पढ़ें: गाजियाबाद बिल्डिंग हादसाः गिरने से कर्इ घंटे पहले इस शख्स ने कर दी थी घोषणा
इतने बड़े हादसा होने के बाद आखिरकार गाजियाबाद की जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी ने इस पूरे मामले में जीडीए के कुल 15 अधिकारियों और कर्मचारियों को दोषी माना है। साथ ही प्राधिकरण के सात कर्मचारियों के खिलाफ शासन से कार्रवाई की संस्तुति की है। इसके अलावा 4 को निलंबित किया गया है और तीन को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है। निर्माणाधीन इमारत गिरने के बाद सोमवार की शाम मौके पर पहुंच कर मंडलायुक्त अनीता सी मेश्राम ने मौके का जायजा लिया और उस इलाके में बन रहे सभी अवैध इमारतों के तमाम जांच किए जाने की बात कही।

वीडियो देखें: ग्रेटर नोएडा में झुकी छह मंजिला इमारत को सात दिनों में गिराने का नोटिस

इस दौरान कमिश्नर अनीता सी मेश्राम ने चीफ इंजीनियर बीएन सिंह को कड़ी फटकार लगाई। जिला अधिकारी रितु माहेश्वरी को निर्देश दिए कि उन चारों जूनियर इंजीनियरों के खिलाफ मामला दर्ज कराया जाए। जिनके कार्यकाल में अवैध निर्माण नोटिस देने के बाद भी चलता रहा था। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में 4 जूनियर इंजीनियर पूरी तरह दोषी हैं इसलिए उनके खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें: ग्रेटर नोएडा हादसा: इन जगहों पर गिराई जाएंगी 21 बिल्डिंग


वहीं पूरे मामले में जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी का कहना है कि एक अधिकारी सेवानिवृत्त हो चुका है। लेकिन उसके कार्यकाल में इन सब इमारतों का निर्माण हुआ है। उन्होंने बताया कि उनके खिलाफ भी कानूनी राय लेकर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस इलाके में जितनी भी अवैध इमारतें बन रही हैं। उन पर तत्काल प्रभाव से कार्रवाई की जाएगी जिसके चलते सोमवार को उसके आसपास की कई इमारतों को सील भी कर दिया गया है और जो इमारत मानकों के अनुसार नहीं पाई जाएंगी उन्हें तत्काल प्रभाव से गिराया जाएगा।

ये भी पढ़ें: गाजियबाद बिल्डिंग हादसा: इन 4 लोगों पर गिरी गाज, 4 अन्य पर FIR कराने के कमिश्नर ने दिए आदेश

Show More
Ashutosh Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned