गाजियाबाद: पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित

sharad asthana

Publish: Oct, 13 2017 11:40:27 (IST) | Updated: Oct, 13 2017 11:42:47 (IST)

Ghaziabad, Uttar Pradesh, India
गाजियाबाद: पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित

भाजपा नेता गजेंद्र भाटी की हत्‍या का है आरोप, हाईकोर्ट ने सरेंडर करने के लिए दिया था 11 अक्‍टूबर तक का समय

गाजियाबाद। भाजपा नेता गजेंद्र भाटी उर्फ गज्जू की हत्या के मामले में आरोपी पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा को 11 अक्टूबर तक का समय दिया गया था, लेकिन उसने अभी तक न ही सरेंडर किया और न ही उन्हें पुलिस गिरफ्तार कर पाई है। अमरपाल शर्मा मर्डर के बाद से ही फरार चल रहे हैं। लगातार फरार चलने के बाद अब अमरपाल शर्मा पर दूसरे बड़े अपराधियों की तरह 25000 रुपये इनाम घोषित कर दिया गया है।

करोड़ों के घोटाले में को-ऑपरेटिव बैंक प्रबंधक व महिला लिपिक समेत 4 गिरफ्तार

भाजपा नेता की हत्‍या में है नाम

आपको बताते चलें कि 2 सितंबर को थाना खोला इलाके में भाजपा नेता गजेंद्र भाटी उर्फ गज्‍जू को दो बाइक सवार बदमाशों ने गोलियों से भून डाला था। हालांकि, इस पूरे मामले में पुलिस ने दो हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। गिरफ्तार शूटरों ने हत्या की स्क्रिप्ट लिखने के मामले में पूर्व विधायक व कांग्रेस नेता अमरपाल शर्मा का नाम लिया था।

मिलिए इस शख्स से पत्नी की ख्वाहिश में बन बैठा अपराधी

पुलिस की पकड़ से है बाहर

इससे पहले भी गजेंद्र भाटी के परिजनों ने पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा पर ही हत्या का शक जताया था। उन्‍होंने पूर्व विधायक के खिलाफ थाने में तहरीर दी थी। शूटर पकड़े जाने के बाद पुलिस को यह साफ हो गया था कि गजेंद्र की हत्या पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा ने राजनीतिक द्वेष के चलते ही कराई थी और तभी से पुलिस अमरपाल शर्मा को पकड़ने की फिराक में है। हालांकि, अभी तक अमरपाल शर्मा पुलिस गिरफ्त से बाहर है।

आम्रपाली के खिलाफ आर्इआरपी की टीम ने शुरू की दिवालिया घोषित करने की कार्रवाई

संपत्ति कुर्क करने के दिए जा चुके हैं आदेश

एसपी सिटी आकाश तोमर ने बताया कि अमरपाल शर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने काफी जगह छापेमारी की, लेकिन वह पकड़ में नहीं आया। उसके बाद उसकी संपत्ति कुर्क करने के आदेश भी मिले, जिसके चलते उसकी संपत्ति पर नोटिस भी चस्पा कर दिया गया था। इतना ही नहीं हाईकोर्ट ने अमरपाल शर्मा को 11 अक्टूबर तक सरेंडर करने का समय भी दिया गया था, लेकिन उसने अभी तक सरेंडर नहीं किया है। इसके चलते उस पर दूसरे अपराधियों की तरह 25000 रुपये का इनाम घोषित कर दिया गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned