VIDEO: पत्नी की बहन की हत्या कर टुकड़े-टुकड़े करने वाले वाले बदमाश ने सिपाही से कही ये बात और कस्टडी से हो गया फरार

VIDEO: पत्नी की बहन की हत्या कर टुकड़े-टुकड़े करने वाले वाले बदमाश ने सिपाही से कही ये बात और कस्टडी से हो गया फरार

Ashutosh Pathak | Publish: Aug, 08 2019 11:28:24 AM (IST) | Updated: Aug, 08 2019 12:33:10 PM (IST) Ghaziabad, Ghaziabad, Uttar Pradesh, India

  • गाजियाबाद हत्या का आरोपी बंदी फरार
  • पेशी पर लाए दो कॉन्सेटबल को पर
  • पत्नी की बहन हत्या कर किए थे टुकड़े-टुकड़े

गाजियाबाद। हाल ही में मुजफ्फरनगर में पेशी पर आया एक बदमाश फरार हो गया था, हालाकि पुलिस ने फरार बदमाश को मार गिराया। लेकिन इसके बाद भी पुलिस ने इससे कोई सबक नहीं लिया। इस बार गाजियाबाद से पुलिस कस्टडी से एक आरोपी फरार हो गया। जिसके बाद से पुलिस की सुरक्षा पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं। वहीं घटना के बाद फरार अभियुक्त नौशाद की गिरफ्तारी के लिए गाजियाबाद एसएसपी ने टीमें गठित कर दी हैं। बताया जा रहा है कि फरार आरोपी मे सिपाहियों को लालच दिया था। वहीं अभियुक्त के फरार होने पर दो कॉन्स्टेबल की संलिप्तता पाए जाने पर एसएसपी ने कॉन्स्टेबल कुशल पाल को बर्खास्त और कॉन्स्टेबल सतीश को निलंबित कर विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं।

दरअसल हापुड़ का नौशाद नाम का हत्यारोपी खुद अपनी ही सा-ली की हत्या की थी, जिसके बाद वह अपने बच्चों को लेकर ससुराल पहुंच गया और अपनी पत्नी की बहन को ही खोजने के लिए ससुराल वालों के साथ जुटा रहा। नौशाद ने अपनी सा-ली की हत्या 9 नवंबर 2018 में की थी और 11 नवंबर को खोड़ा थाना में गुमशुदगी की रिपोर्ट भी दर्ज करा दी। लेकिन अचानक ही नौशाद की पत्नी को उस पर कुछ शक हुआ। 12 नवंबर को जब वह और उसके परिजन कमरे पर पहुंचे तो नौशाद ने नरगिस के शव के टुकड़े बोरे में भरे हुए मिले थे। जैसे ही नौशाद की पत्नी और उसके मायके वालों ने यह नजारा देखा तो उनके होश उड़ गए। आनन-फानन में इसकी सूचना स्थानीय पुलिस को दी गई थी।

सूचना के आधार पर मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और नौशाद को गिरफ्तार कर लिया। जब उससे गहन पूछताछ की गई तो नौशाद ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया तभी से उस केस में यह आरोपी है और केस की सुनवाई लगातार चल रही है।

इसी केस में सुनवाई के लिए बुधवार को भी नौशाद को न्यायालय लाया गया था जिसके साथ सुरक्षा की दृष्टि से सिपाही कुशल पाल और सतीश मौजूद थे। बताया जा रहा है कि रुपयों के लालच में सिपाही सतीश और कुशल पाल उसे मॉल में जूता दिलाने के लिए ले गए थे। पत्नी की बहन के हत्या के आरोपी नौशाद ने सिपाही कुशल पाल को झांसा दिया कि वह उसे जूते पहनाकर ले आए। साथ ही लालच दिया कि उसे घर से रुपए मिलेंगे, उसे भी हिस्सा दिया जाएगा। जिसके बाद सिपाही कुशल पाल आरोपी को मॉल में जूता खरीदवाने के लिए गया।

इसी दौरान नौशाद पुलिसकर्मी कुशल पाल और उसके साथी दूसरे सिपाही सतीश को चकमा देकर फरार हो गया। जिसकी सूचना आनन-फानन में पुलिस के अधिकारियों को दी गई और पुलिस ने चारों तरफ से नौशाद को पकड़े जाने का भरसक प्रयास किया। लेकिन नौशाद पुलिस को चकमा देकर रफूचक्कर हो चुका था।

गाजियाबाद एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया अभियुक्त नौशाद आजाद पुत्र मेहरबान निवासी थाना बहादुरगढ़ जिला हापुर का रहने वाला नौशाद गाजियाबाद की जिला कारागार में खोड़ा थाने के मुकदमा संख्या 438 बटा 16 धारा 302 और 201 का अभी था जिसको आज कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया और फरार हो गया।

फरार अभियुक्त नौशाद की गिरफ्तारी के लिए गाजियाबाद एसएसपी ने टीमें गठित कर दी हैं तलाश जारी है इस प्रकरण में अभियुक्त के फरार होने पर प्रथम दस्ते कॉन्स्टेबल कुशल पाल व कांस्टेबल सतीश की संलिप्तता पाए जाने पर एसएसपी कॉन्स्टेबल कुशल पाल को बर्खास्त वह कॉन्स्टेबल सतीश को निलंबित क्या है और विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned