Viral Fever In UP: डेंगू ने बरपाया कहर, 14 दिन में मिले 109 मरीज

Viral Fever In UP: मंगलवार को जिला एमएमजी अस्पताल में सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या दिखाई दी। इनमें डेंगू के 2 मरीज भर्ती किए गए। दोनों मरीजों का उपचार जारी है।

By: Nitish Pandey

Updated: 15 Sep 2021, 11:40 AM IST

Viral Fever In UP: देश की राजधानी दिल्ली से सटे गाजियाबाद में कोरोना से अभी थोड़ी राहत दिखाई दे रही है, लेकिन डेंगू लगातार अपने पांव पसारता जा रहा है। बीते 14 दिनों के अंदर डेंगू के 109 नए केस सामने आ चुके हैं जबकि कोरोना के महज तीन ही केस सामने आए हैं। डेंगू के मामलों में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है, स्थानीय लोगों में डेंगू के बढ़ते मामले को लेकर भय व्याप्त है। लोगों का कहना है कि कहीं डेंगू फिरोजाबाद जैसा कहर गाजियाबाद में भी ना बरपाए।

यह भी पढ़ें : पत्नी के पांच टुकड़े कर दरिंदे पति ने कुछ घर में दबाए तो कुछ नहर में फेंके

मंगलवार को जिला एमएमजी अस्पताल में सबसे ज्यादा मरीजों की संख्या दिखाई दी। इनमें डेंगू के 2 मरीज भर्ती किए गए। दोनों मरीजों का उपचार जारी है। लेकिन दोनों की ही हालत नाजुक बताई जा रही है। उधर अस्पताल में कुल 103 भर्ती मरीजों में से 35 मरीज डायरिया के हैं और 27 मरीज बुखार के भी शामिल है। जबकि अस्पताल की इमरजेंसी में बुखार और डायरिया से पीड़ित 6 बच्चों को भी भर्ती किया गया है।

जिला अस्पताल की ओपीडी में मंगलवार देर शाम तक 2534 मरीज पहुंचे जिनमें 135 मरीज बुखार के शामिल है। हालांकि इनमें से केवल 4 मरीजों को ही भर्ती करना पड़ा बाकि ओपीडी में 1234 पुरुष, 944 महिलाएं और 356 बीमार बच्चे शामिल हैं। जिनकी प्राथमिक जांच कर उन्हें दवा देकर घर भेज दिया गया है। इनमें से जो मरीज बुखार से ग्रसित पाए गए, सभी मरीजों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए है।

धीमी है डेंगू और मलेरिया की जांच

गाजियाबाद में स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक कोरोना के केस घट रहे हैं। जबकि डेंगू के मामले लगातार बढ़ते हुए नजर आ रहे हैं। मंगलवार को देर शाम तक 2 बच्चों समेत डेंगू के 13 नए मामले सामने आए हैं। अभी तक गाजियाबाद में महज 14 दिन के अंदर कोरोना वायरस के 3 मामले सामने आए हैं तो वहीं डेंगू के 109 केस मिल चुके हैं। हालांकि कोरोना को लेकर रोजाना 5 हजार लोगों की जांच की जा रही है। लेकिन डेंगू और मलेरिया की जांच अभी धीमी है।

चिंतित हैं स्थानीय लोग

वहीं गाजियाबाद प्रशासन ने शासन के निर्देश पर सर्वे के लिए 2136 टीमें लगाई गई है। लेकिन जिस स्तर से कार्य किया जाना चाहिए, वह धरातल पर नजर नहीं आ रहा है। डेंगू के बढ़ते मामले पर स्थानीय लोग काफी चिंतित हैं, लोगों का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही बड़ा खतरा बन सकती है।

आकड़ें चिंताजनक

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक यदि संक्रमित मामलों का आकलन किया जाए तो जनवरी में 501 संक्रमित मामले सामने आए थे। वहीं फरवरी में 179 मामले सामने आए। जबकि मार्च में यह आंकड़ा बढ़ा और 587 नए संक्रमित मामले आए। उसके बाद अप्रैल में उससे भी ज्यादा यानी 14091 लोग संक्रमित हुए। उधर मई में सबसे ज्यादा 14991 लोग संक्रमित हुए। इसके अलावा जून में यह आंकड़ा तेजी से घटा, 324 संक्रमित मामले पाए गए। वहीं जुलाई में 65 लोग संक्रमित हुए अगस्त में फिर तेजी से यह आंकड़ा घटा और 26 नए मामले सामने आए। अगर सितंबर की बात की जाए तो 13 सितंबर तक केवल तीन नए संक्रमित मामले सामने आए हैं।

कोरोना से राहत, डेंगू बना आफत

कोरोना के मरीजों का आंकड़ा देखा जाए तो अभी कोरोना से बेहद राहत है। लेकिन डेंगू आफत बनता हुआ नजर आ रहा है क्योंकि जिस तरह से केवल 14 दिन में ही 109 मरीज मिले हैं। वह वाकई स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के माथे पर चिंता की लकीर पैदा करने वाले हैं।

यह भी पढ़ें : गजब: मृत युवती को लगा दी कोरोना वैक्सीन, जारी किया प्रमाणपत्र

Nitish Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned