पत्रकार हत्याकांड: परिजनाें काे 10 लाख रुपये की मदद करेगी सरकार, एक सदस्य काे नाैकरी का वादा

घंटों चले हंगामे के बाद पत्रकार विक्रम जाेशी हत्याकांड में मीडियाकर्मियों और परिवार वालों का गुस्सा शांत हाे सका। सरकार ने तत्काल रूप से दस लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य काे नाैकरी देने की बात कही है।

By: shivmani tyagi

Updated: 22 Jul 2020, 01:35 PM IST

गाजियाबाद ( latest ghazibad news) पत्रकार विक्रम जाेशी के परिवार वालों काे सरकार ने तत्काल प्रभाव से दस लाख रुपये की आर्थिक मदद की घाेषणा की है। इसके साथ ही परिवार के एक सदस्य को शिक्षा के आधार पर नाैकरी दिलाए जाने का वादा भी किया गया है। घंटों चले हंगामे के बाद परिजन शांत हाे सके और उन्हाेंने शव उठने दिया।

यह भी पढ़ें: शर्मनाक: हैवान पिता 5 साल तक बेटी से करता रहा दुष्कर्म, 4 बार कराया गर्भपात

( ghazibad crime news ) साेमवार रात बाइक सवार हमलावरों ने गाजियाबाद में रहने वाले पत्रकार विक्रम जाेशी को गाेली मार दी थी। विक्रम जाेशी ने अपनी भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ का विराेध करते हुए पुलिस से शिकायत की थी। इसके बाद साेमवार देर शाम बाइक सवार बदमाशों ने विक्रम जाेशी पर हमला कर दिया था और सिर में गाेली मार दी थी। बुधवार तड़के उपचार के दाैरान उनकी माैत हाे गई।

यह भी पढ़ें:

( ghazibad crime news Hindi ) इस घटना से गुस्साए परिजनाें और मीडियाकर्मियों ने हंगामा कर दिया था। गाजियाबाद में मीडियाकर्मी धरने पर बैठ गए थे और उन्हाेंने नारेबाजी शुरु कर दी थी। परिजनाें ने भी शव नहीं उठने दिया था। इसके बाद पुलिस प्रशाासनिक अफसर माैके पर पहुंचे थे। मीडियाकर्मी विक्रम जाेशी के परिवार काे उचित मुआवजा और एक सदस्य काे नाैकरी दिलाए जाने की मांग कर रहे थे।

यह भी पढ़ें: पत्रकार विक्रम जाेशी की अस्पताल में माैत, परिवार में मचा काेहराम, राहुल गांधी ने यूपी सरकार काे घेरा

दरअसल विक्रम जाेशी अपने परिवार के मुखिया थे और उनकी माैत के बाद परिवार का पालन पाेषण करने वाला काेई नहीं बचा है। इसी काे लेकर लाेगाें में घटना के प्रति आक्रोश था। माैके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने परिवारजनों काे समझाने का प्रयास किया लेकिन वह उनका गुस्सा सातवें आसमान पर था। आक्रोश काे देखते हुए सरकार ने परिवार वालों को दस लाख रुपये की आर्थिक मदद देने की बात कही। इसके साथ ही शिक्षा के आधार पर परिवार के एक सदस्य को नाैकरी दिलाए जाने का भी भराेसा दिया है। इस मामले में पुलिस अब तक 9 लाेगाें काे गिरफ्तार कर चुकी है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned