Special: 11 साल की उम्र में हजारों को सिखा डाला योग, हुनर देख कई देश कर चुके सम्मानित

लॉकडाउन में सैकड़ों लोगों को ऑनलाइन सिखा रहे योग। स्कूल में कई बार स्टूडेंंट ऑफ दी ईयर से हुए चुके सम्मानित। योगा फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित योगासन स्पोर्ट्स में कांस्य पदक जीता।

By: Rahul Chauhan

Published: 02 Jun 2021, 10:54 AM IST

गाजियाबाद। कहते हैं हुनर सीखने की कोई उम्र नहीं होती। अगर इरादे मजबूत हो तो आप कोई भी मुकाम हासिल कर सकते हैं। ऐसा ही कुछ कर 11 वर्षीय योग खिलाड़ी (yoga) ने कर दिखाया है। जो आज भारत ही नहीं बल्कि विदेशों में भी हजारों लोगों को योग क्लास देकर कई अवार्ड प्राप्त कर चुके हैं। दरअसल, गाजियाबाद के वसुंधरा इलाके में रहने वाला 11 वर्षीय अंतरराष्ट्रीय योग खिलाड़ी ध्रुव शर्मा (dhruv sharma) फिलहाल लॉकडाउन के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई करने वाले व घर पर रहकर वर्क फ्रॉम होम करने वाले लोगों को योग क्लासीस दे रहे हैं। इस योग क्लास में सैकड़ों की संख्या में छात्रों के अलावा उनके माता-पिता और अन्य लोग शामिल होते हैं। इतनी छोटी उम्र में योग सिखाने वाले इस खिलाड़ी की लोग जमकर सराहना भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ेंं: कोविशील्ड लगवाने पर नहीं बनी एंटीबॉडी, धोखाधड़ी व जान से खिलवाड़ का मुकदमा किया दर्ज

मां विनीता शर्मा बताती हैं कि ध्रुव को बचपन से ही योग का बेहद शौक है। पहले उसने योग सीखा। उसके बाद अन्य बच्चों को सिखाना शुरू किया। फिर धीरे-धीरे उससे बड़े लोगों ने भी योग सीखना शुरू कर दिया। वर्तमान में बड़ी संख्या में लोग ध्रुव के साथ जुड़ रहे हैं और अब लॉकडाउन के दौरान घर पर रहने वाले सभी बच्चों उनके माता-पिता और अन्य लोगों को भी ऑनलाइन योग सिखाया जा रहा है। ध्रुव को ऑस्ट्रेलिया भी योग सिखाने के लिए बुलाया गया था। जहां पर उसे असिस्टेंट हाई कमिश्नर ऑफ इंडिया राधा वेंकटरम मैडम ने अवार्ड देकर सम्मानित किया था। साथ ही श्रीलंका के ऑफिशियल फेसबुक पेज पर ध्रुव को लिटिल योगा मास्टर लिखा गया और बहुत ही शानदार शब्दों के साथ फोटो पोस्ट किया गया।

योग से लोगों को मिलेगा आराम

अंतरराष्ट्रीय योग खिलाड़ी 11 वर्षीय ध्रुव ने बताया कि उसने जब से अपना होश संभाला है तभी से वह योग बेहद पसंद करता है। इसलिए सबसे पहले उसने योग की क्लास ली और सीखने के बाद अब वह अन्य बच्चों और बड़ों को योग सिखाता है। खास तौर पर लॉकडउन के दौरान जो बच्चे घर पर रहकर ऑनलाइन क्लास ले रहे हैं या बड़े लोग घर पर रहकर वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। ऐसे लोगों को घर में एक जगह रहने के कारण कमर में दर्द, गर्दन में दर्द, आंखों में दर्द एवं जलन के अलावा कई तरह की समस्याएं पैदा हो जाती है। इसे ध्यान में रखते हुए अब ऑनलाइन योग क्लास शुरू की है और अब धीरे-धीरे बड़ी संख्या में बच्चों के अलावा उनके अभिभावक एवं अन्य लोग भी योग क्लास में जुड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: UP BEd करने वाले सवा दो लाख स्टूडेंट्स के लिए बड़ी खुशखबरी, घटाई गई 14 प्रतिशत फीस, जल्द होगी प्रवेश परीक्षा

मिल चुकी स्टूडेंट ऑफ द ईयर की भी ट्रॉफी

ध्रुव की मां बताती हैं कि वह योग करने के साथ साथ पढ़ाई में भी बहुत अच्छे हैं। वह बीते पांच साल में कभी भी स्कूल में अनुपस्थित नहीं हुआ और योगाभ्यास करने की वजह से वह बीमार भी बहुत ही कम पड़ता है। इतना ही नहीं, हर वर्ष वह सभी विषयों में 100 फीसद अंक हासिल कर स्कूल भी टॉप करता है। इसके चलते उसे हर वर्ष स्टूडेंट ऑफ द ईयर की ट्रॉफी भी मिलती है। योगा फेडरेशन ऑफ इंडिया की ओर से आयोजित योगासन स्पोर्ट्स में ध्रुव ने कांस्य पदक जीता है। उन्होंने 18 वर्ष आयु वर्ग में 2 मिनट 28 सैकेंड में 10 सबसे कठिन योगासन करके दिखाए थे।

Show More
Rahul Chauhan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned