इलेक्शन 2019 स्पेशल...कोडरमा सीट पर बाबूलाल मरांडी के साथ झाविमो के अस्तित्व की लड़ाई

इलेक्शन 2019 स्पेशल...कोडरमा सीट पर बाबूलाल मरांडी के साथ झाविमो के अस्तित्व की लड़ाई
babu lal

Prateek Saini | Updated: 05 May 2019, 05:08:28 PM (IST) Giridh, Giridh, Jharkhand, India

वर्ष 2014 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मिली पराजय के बाद बाबूलाल मरांडी खुद को संसदीय राजनीति में पुनर्स्थापित करने की कोशिश में जुटे हैं...

 

(कोडरमा,गिरिडीह): कोडरमा लोकसभा सीट के लिए झारखंड विकास मोर्चा (प्रजातांत्रिक) के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के लिए यह चुनाव न सिर्फ उनके राजनीतिक भविष्य से जुड़ा है, बल्कि पूरे झाविमो के अस्तित्व से जुड़ा हुआ है। वर्ष 2014 के लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मिली पराजय के बाद बाबूलाल मरांडी खुद को संसदीय राजनीति में पुनर्स्थापित करने की कोशिश में जुटे हैं, वहीं जिस तरह से झाविमो के आठ में से छह विधायक भाजपा में शामिल हो गए और लातेहार के झाविमो विधायक प्रकाश राम भी समय-समय पर भाजपा से नजदीकियों की बात सामने आती है,ऐसे में उनकी पार्टी में केंद्रीय प्रधान महासचिव प्रदीप यादव ही एक मात्र ऐसे विधायक है, जो अब तक उनके साथ खड़े है। इन तमाम राजनीतिक विपरीत राजनीतिक परिस्थितियों के बीच बाबूलाल मरांडी इस बार कोडरमा में कड़े मुकाबले में फंसे नजर आ रहे है।

 

बाबूलाल मरांडी को भाजपा की अन्नपूर्णा देवी और भाकपा-माले के राजकुमार यादव से कड़ी टक्कर मिल रही है। हालांकि कोडरमा से दो बार लोकसभा चुनाव जीत चुके है, वहीं कोडरमा विधानसभा सीट में ही उनका पैतृक गांव कोदईक बांध है,जिससे इलाके में उनकी पकड़ अच्छी मानी जाती है और कांग्रेस तथा झारखंड मुक्ति मोर्चा एवं राजद का भी उन्हें समर्थन मिल रहा है। वहीं हाल ही में राजद छोड़ कर भाजपा में शामिल हुई अन्नपूर्णा देवी को भी पार्टी कार्यकर्ताओं नेताओं के साथ ही राजद में रहे पुराने साथियों का सहयोग मिल रहा है। जबकि भाजपा के निवर्तमान सांसद रवींद्र राय टिकट कटने के बावजूद अन्नपूर्णा देवी के साथ खड़ा दिखने की कोशिश कर रहे है।


वामपंथी दलों ने भी यहां के समर में प्रत्याशी दिया है। भाकपा माले के राजकुमार यादव मैदान में है। इस सीट पर कुल 15 प्रत्याशी मैदान में है। जिससे कोडरमा का दंगल रोचक हो गया है। लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में छह मई को कौन 'छक्का' लगाएगा और किसके छक्के छूटेंगे इसका खुलासा मतगणना के साथ 23 मई को होगा तबतक करना होगा इंतज़ार ।

 

गिरिडीह जिले के धनबार में 299705, बगोदर में 311100,जमुआ में 283956 , गांडेय में 259904 , कोडरमा जिले के कोडरमा में 327406 ,व हजारीबाग जिले के बरकठा में 329969 मतदाता 2475 बूथों पर मताधिकार का प्रयोग करेंगे। 18 लाख 12हजार 85 मतदाताओं वाला कोडरमा संसदीय क्षेत्र में 853546 महिला व 958523 मतदाता पुरूष हैं। इस सीट की आधी से अधिक बूथ संवेदनशील और अतिसंवेदनशील है। सभी संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर केंद्रीय अर्द्ध सैनिक बलो के जबान तैनात रहेंगे।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned