मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दशहरा के राममंदिर को लेकर कह दी बड़ी बात

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दशहरा के राममंदिर को लेकर कह दी बड़ी बात
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दशहरा के राममंदिर को लेकर कह दी बड़ी बात

Dheerendra Vikramadittya | Updated: 06 Oct 2019, 09:09:09 AM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

संत मुरारी बापू(Morari Bapu) के रामकथा का शुभारंभ करने पहुंचे थे सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने कहा कि ये गोरखपुरवासियों का सौभाग्य है कि शारदीय नवरात्रि के पावन अवसर पर शिवस्वरूप भगवान गोरक्षनाथ जी की पावन धरती पर मोरारी बापू का आगमन हुआ है। सीएम योगी ने कहा कि भगवान राम तो हम सब की एक एक सांस में बसें हैं। भगवान राम के हम सभी भक्त हैं और भक्ति में ही शक्ति है। सीएम योगी ने राम मंदिर निर्माण कार्य का नाम लिए बिना कहा कि बहुत जल्द बड़ी खुशखबरी मिलने वाली है।
शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ब्रह्मलीन महंत अवेद्यनाथ (Mahant Avedyanath) की स्मृति में गोरखपुर के चम्पादेवी पार्क में आयोजित मोरारी बापू (Sant Morari Bapu)के राम कथा (RamKatha)का शुभारंभ करने पहुंचे थे। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कुछ दिन पहले मोरारी बापू की राम कथा मगहर में सम्पन्न हुई थी तब यहां के श्रद्धालु गोरखपुर में मोरारी बापू की कथा कराने की अपील करते थे। सीएम ने कहा कि मोरारी बापू का भी संकल्प था कि उन्हें बाबा गोरक्षनाथ की धरती पर श्रीराम कथा सुनानी हैं और हम सभी भाग्यशाली हैं कि शारदीय नवरात्रि में हमको ये शुभ अवसर प्राप्त हुआ है। सीएम ने कहा कि फ्रांस में मोरारी बापू की श्रीराम कथा के दौरान वहां पीएम नरेंद्र मोदी का भी जाना हुआ था।

Read this also: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रहेंगे गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में, दशहरा तक परंपरागत पूजन में करेंगे शिरकत

अच्छा काम करने में कभी कभी 70 साल बीत जाताः मोरारी बापू

मोरारी बापू (Morari Bapu) ने नाथ परंपरा के सभी संतों को नमन करते हुए कहा कि आज मैं योगी जी महाराज का आशीर्वाद लेकर श्रीराम कथा आरंभ कर रहा हूँ। उन्होंने कहा मुझे बहुत प्रसन्नता है कि सीएम योगी के शासनकाल में मुझे भगवान गोरक्षनाथ की धरती पर 30 वर्षों बाद श्रीराम कथा कहने का अवसर मिला। बताया कि तीस साल पहले गीता वाटिका से जुड़े राधा बाबा ने उन्हें गोरखपुर में रामकथा कहने का आमंत्रण दिया था, मगर उस समय योग नहीं बन सका। असल योग योगीराज में बना है। कभी कभी अच्छा कार्य होने में 30 वर्षों का तो कभी 70 वर्षों का समय बीत जाता है।

Read this also: मुख्यमंत्री के शहर में देश के जाने माने संत कहेंगे रामकथा, पूर्णतया प्लास्टिक फ्री कैंपस बना

गोरखनाथ मंदिर से विधि विधान से हुई पोथी पूजा

मोरारी बापू की कथा शुरू होने से पूर्व उनकी रामचरित मानस कथा की पोथी की विधिवत पूजा गोरखनाथ मंदिर में की गई। पोथी को सिर पर रखकर आयोजक भगीरथ जालान एवं खुशबू जालान गोरखनाथ मंदिर पहुंचे। इसके बाद मुख्य पुजारी योगी कमलनाथ ने पूजन कराया। फिर पोथी को लेकर मंदिर की परिक्रमा कर कथा स्थल के लिए यजमान रवाना हुए।
यहां कार्यक्रम स्थल पर संत मोरारी बापू के आगमन से पहले राम कथा की पांडुलिपि व्यास गद्दी पर स्थापित की गई।

Read this also: Fake arms license मामले में अबतक की सबसे बड़ी कार्रवार्इ,अबतक इतने गिरफ`तार

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned