गोरखपुर जेल में कैदियों ने की डिप्टी जेलर व कई सिपाहियों की पिटाई, पथराव, बवाल

गोरखपुर जेल में कैदियों ने की डिप्टी जेलर व कई सिपाहियों की पिटाई, पथराव, बवाल
गोरखपुर जेल में कैदियों ने की डिप्टी जेलर व कई सिपाहियों की पिटाई, पथराव, बवाल

Dheerendra Vikramadittya | Publish: Oct, 11 2019 11:30:57 AM (IST) Gorakhpur, Gorakhpur, Uttar Pradesh, India


कई थानों की पुलिस जेल में, जेल के एक हिस्से पर कैदियों का कब्जा

गोरखपुर जेल में एक बार फिर कैदियों ने बवाल कर दिया। सुबह सवेरे किसी बात को लेकर भड़के कैदियों ने डिप्टी जेलर व कई सिपाहियों की पिटाई कर दी। जेल कर्मियों ने बैरक नंबर एक से किसी तरह जेलर व सिपाहियों को कैदियों की चंगुल से बचाया। सभी को जेल के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की सूचना मिलते ही भारी संख्या में पुलिस फोर्स जेल के बाहर तैनात है। जिले के आला अधिकारी भी मौके पर मौजूद है। अंदर के हालात पर काबू पाने की कोशिश हो रही है। बताया जा रहा है कि अंदर कैदियों द्वारा पथराव किया जा रहा है। पुलिस बल काबू में करने की कोशिश कर रही। जेल की निगरानी ड्रोन से की जा रही है।

Read this also: तीन बेटियों की मां ने प्रेमी संग मिलकर किया ऐसा घिनौना काम, हर ओर हो रही निंदा

बता दें कि एक दिन पहले गुरुवार को बैरक नंबर एक के कैदियों के बीच किसी बात को लेकर पेशी से लौटने के बाद कहासुनी हो गई थी। इस बात की जानकारी जेल पुलिस को हुई तो कुछ पुलिसवालों ने आधा दर्जन कैदियों की पिटाई कर दी थी। बेवजह पिटाई से कैदी भड़के हुए थे। सुबह जब कैदियों को बैरक से निकाला जा रहा था तो डिप्टी जेलर प्रभाशंकर को देखकर कैदी भड़क गए। कैदियों ने घेरकर डिप्टी जेलर की पिटाई कर दी। उनके साथ के चार सिपाहियों की भी पिटाई कैदियों ने कर दी। इसके बाद से बवाल बढ़ गया। कैदी अराजक हो गए। बताया जा रहा है कि पथराव भी वह करने लगे। इसके बाद जेल के अंदर तैनात पुलिस पीछे हटने लगी। किसी तरह जेलर व सिपाहियों को छुड़ाया गया। बैरक नंबर एक और आसपास कैदियों ने बवाल काटना शुरू कर दिया।
घटना की जानकारी जिला प्रशासन को तत्काल दी गई। कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। बताया जा रहा है कि नौ थानों की पुलिस जेल के अंदर मौजूद है। जेल के एक हिस्से में कैदियों की वजह से पुलिस जा नहीं पा रही। उनका जेल के एक हिस्से पर पूरी तरह कब्जा है।
पुलिस प्रशासन ड्रोन से हर स्थिति पर नजर रखे हुए है। कैदियों को समझाने की भी कोशिश की जा रही है।

Read this also: बीआरडी से पीजी कर रहे मुंबई के डाॅक्टर का शव नेपाल के होटल में मिला!

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned