scriptMarch for Seperate Buddhaland in UP began | यूपी में अलग बुद्धालैंड के लिए आंदोलन का आगाज, गोरखपुर में आंदोलनकारियों ने की पदयात्रा | Patrika News

यूपी में अलग बुद्धालैंड के लिए आंदोलन का आगाज, गोरखपुर में आंदोलनकारियों ने की पदयात्रा


प्रदेश के पूर्वी हिस्से के 27 जिलों को अलग कर बुद्धालैंड बनाने की मांग जोर पकड़ रही

गोरखपुर

Updated: January 02, 2018 02:44:10 am

गोरखपुर। नए साल के जश्न के साथ ही उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्से को अलग कर बुद्धालैंड बनाने की मांग शुरू हो गई है। सोमवार को इस आंदोलन का आगाज करते हुए पूर्वांचल सेना ने गोरखपुर में पैदल मार्च किया। इस आंदोलन में पूर्वांचल के 27 जिलों के आंदोलन समिति के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। सेना ने मजिस्ट्रेट के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी भेजी है।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार बुद्धालैंड आंदोलन से जुड़े सभी प्रतिनिधि शहर के नार्मल स्कूल ग्राउंड में एकत्र हुए। यहां से पदयात्रा की शुरूआत हुई जो बेतियाहाता, शास्त्री चैक, अंबेडकर चैक, इंदिरा बाल विहार, कलक्ट्रेट चैक होते हुए रानी लक्ष्मीबाई पार्क तक आकर सभा में तब्दील हो गई।
Andolan Buddhaland 3
Andolan Buddhalandसभा को संबोधित करते हुए पूर्वांचल सेना के अध्यक्ष धीरेंद्र प्रताप ने कहा कि यूपी बड़ा राज्य होने और आबादी काफी अधिक होने से पूर्वांचल की ओर फोकस कम हो जाता। यूपी का बंटवारा करके ही इसका विकास हो सकेगा। बुद्धालैंड प्रदेश बनाकर देश के सबसे पिछड़े हिस्से पूर्वी उत्तर प्रदेश का विकास किया जा सकेगा। उन्होंने कहा की उत्तर प्रदेश का बंटवारा होकर इस क्षेत्र को बहुत पहले अलग राज्य का दर्जा मिल जाना चाहिए था परन्तु साजिशन इस क्षेत्र को पिछड़ा बनाये रखने के लिए इसे अलग राज्य नहीं बनाया जा रहा। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में प्रतिभाओं, संसाधनों की कमी नहीं है। इनके उचित दोहन और नियोजन के लिए इसे अलग राज्य बनाया जाना बेहद जरूरी है। बुद्धालैंड की परिकल्पना के बारे में साझा किया कि बुद्ध यहां की सांस्कृतिक विरासत हैं। बुद्ध को जानने समझने के लिए दुनिया भर से लोग इस धरती पर आते हैं। बुद्धलैंड बन जाने से यह क्षेत्र और विकसित हो सकेगा। जनजन को अलग राज्य आन्दोलन से जोड़ने के लिए “बुद्धालैंड” अलग राज्य का आन्दोलन छेड़ा जा रहा है। कहा की समता, स्वतंत्रता, बंधुत्व और न्याय की आधारशिला पर जातिवाद, गरीबी, बेरोजगारी मुक्त बुद्धालैंड प्रदेश के निर्माण का हमारा लक्ष्य है जिसे लिए हम हर हाल में हासिल करेंगे।
Andolan Buddhaland 2इस प्रदर्शन रैली में प्रमुख रूप से डाॅ. डीके गौतम, भंते उत्तरानन्द, अयोध्या प्रसाद, सुनील कुमार, इंदु वर्मा, रणविजय, वसीम अहमद, राज कुमारी बौद्ध, उदय राज विद्यार्थी, कमलेश कुमार, अख्तर हुसैन, एडवोकेट अनिल कुमार, रविन्द्र कुमार, हितेश सिंह, धीरज कुमार भारती, विजय कपूर, योगेश चंद, आनंद प्रकाश राव, वेद प्रकाश, उमेश कुमार, विनोद वर्मा , वीरेन्द्र मौर्या, कृष्ण मुरारी, अमित सिंघानिया, सुनील चैहान, प्रणय कुमार श्रीवास्तव, सुधीर मोदनवाल, अमर सिंह पासवान आदि मौजूद रहे।
 

 

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Republic Day 2022: परम विशिष्ट सेवा मेडल के बाद नीरज चोपड़ा को पद्मश्री, देवेंद्र झाझरिया को पद्म भूषणRepublic Day 2022: 939 वीरों को मिलेंगे गैलेंट्री अवॉर्ड, सबसे ज्यादा मेडल जम्मू-कश्मीर पुलिस कोस्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना हालातों पर राज्यों के साथ की बैठक, बोले- समय पर भेजें जांच और वैक्सीनेशन डाटाBudget 2022: कोरोना काल में दूसरी बार बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण, जानिए तारीख और समयमुख्यमंत्री नितीश कुमार ने छोड़ा BJP का साथ, UP चुनावों में घोषित कर दिये 20 प्रत्याशीAloe Vera Juice: खाली पेट एलोवेरा जूस पीने से मिलते हैं गजब के फायदेगणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर झंडा फहराने में क्या है अंतर, जानिए इसके बारे मेंRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस परेड में हरियाणा की झांकी का हिस्सा रहेंगे, स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.