गोरखपुर में सपा ने बीजेपी को बुरी तरह पिछाड़ा, संजय निषाद ने कहा-हम 22 हजार मतों से जीत रहें, डीएम कर रहे खेल

गोरखपुर में सपा ने बीजेपी को बुरी तरह पिछाड़ा, संजय निषाद ने कहा-हम 22 हजार मतों से जीत रहें, डीएम कर रहे खेल

Jyoti Mini | Publish: Mar, 14 2018 12:10:30 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 01:18:44 PM (IST) Gorakhpur, Uttar Pradesh, India

गोरखपुर में सपा ने बीजेपी को बुरी तरह पछाड़ दिया है...

गोरखपुर. सीएम के जिले गोरखपुर और फूलपुर में उपचुनाव की मतगणना जारी है। गोरखपुर में सपा ने बीजेपी को बुरी तरह पछाड़ दिया है। जिसके बाद से उथल- पुथल जारी है।

पहले राउंड के अनुसार उपेंद्र शुक्ला 15577, उपेंद्र 15577, सुरहिता को 543 वोट मिले ह। वहीं सीएम योगी के जिले में 547 लोगों ने नोटा का प्रयोग किया है।

दूसरा राउंड 61161
बीजेपी 29194

सपा 29218
कांग्रेस 1018

तीसरा राउंड

92686 बीजेपी 43456 सपा 44979 कांग्रेस 912

चौथा राउंड
122546
बीजेपी 56945
सपा 59907

पांचवा राउंड
151547
बीजेपी 70370
सपा 74377

ये हो गई अधिकारिक राउंड की बात। सूत्रों के अनुसार बीजेपी के पिछड़ने के बाद से ही अंदर डेटा रोक दिया गया है। इसी बीच संजय निषाद का बयान आया है कि, हमने गोरखपुर मे 22 हजार मतो ने बढ़त बना ली है। अंदर 15 राउंड की गिनती हो चुकी है। लेकिन डीएम आकड़ों में खेल करना चाहते हैं, इसलिए उटलफेर कर रहे हैं।

छठवे राउंड
181363
सपा 89950
बीजेपी 82811
कांग्रेस 3746

देखें नौवां राउंड

गोरखपुर ग्रमीण में नौंवे राउंड में बीजेपी 10884 और सपा 12523 वोट।
-पिपराइच में सपा 32096, बीजेपी 27476
-सहजनवा में सपा 2575 , बीजेपी 2305
-शहर विधानसभा में बीजेपी 4 हजार से आगे।
-कैम्पिरगंज में सपा 20262, बीजेपी 16474

दसवां राउंड
296191
बीजेपी 133333
सपा 149312

11 राउंड
329215
बीjp150062

सपा 163941

बता दें कि, वोटों के कम अंत होने के कारण गोरखपुर में बीजेपी प्रत्याशी उपेंद्र दत्त शुक्ल और प्रवीण निषाद के बीच कांट की टक्कर मानी जा रही है। साथ ही बता दें कि, कोई अपडेट नहीं मिलने से लोगों में नाराजगी है। गोरखपुर में तो एक राउंड का ही केवल अपडेट थोड़ी देर पहले आया। सूत्रों के अनुसार नौ राउंड हो चुका सारा जिसका डेटा रोक लिया गया है।

बात करें सीएम के जिले का तो, गोरखपुर तो बीजेपी का गढ़ रहा है। यहां से यूपी के वर्तमान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पांच बार सांसद रहे और हर बार उनकी जीत के वोटों का अंतर बढ़ता ही रहा। 2014 लोकसभा चुनाव में यहां भी वोटिंग 50 से 60 प्रतिशत के बीच ही थी। 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में भी बम्पर वोटिंग ने भाजपा को फायदा दिलाया। वहीं इलाहाबाद फूलपुर डिप्टी सीएम केशव नौर्या का गढ़ है। इस तरह दोनों की प्रतिष्ठा दाव पर लगी है।

input- धीरेंद्र गोपाल

Ad Block is Banned