Lockdown 4.0 में भेज दिया पांच गुना ज्यादा बिजली का बिल, सीएम योगी से लगाई गुहार

Highlights

. फेडरेशन ऑफ नोएडा इंडस्ट्रीज ने अप्रैल और मई माह का बिल माफ करने की मांग
. उद्यमियों का कहना है कि कंपनी बंद होने की वजह से करोड़ों रुपये का हुआ हैं घाटा

 

ग्रेटर नोएडा। कोरोना वायरस (Coronavirus)की वजह से देशभर में लॉकडाउन(Lockdown) हैं। जिसकी वजह से उद्योग और कंपनियां बंद रही हैं। कंपनियां बंद होने के बाद नोएडा पावर कंपनी लिमिटेड (NPCL) ने जोर का झटका दिया है। NPCL ने उद्यमियों को 5 गुना अधिक बिजली का बिल भेज दिया है। बिल का भुगतान न करने पर कनेक्शन(Electricity Connection) काटने का नोटिस भी जारी कर दिया है। हालांकि, अब यह मामला सीएम योगी आदित्यनाथ के पास तक पहुंच गया है।

लॉकडाउन की वजह से कारोबार ठप है। कंपनियां बंद होने की वजह से उद्यमी पहले ही मार झेल रहे हैं। यहां तक की कर्मचारियों को सैलरी(salary) नहीं दे पा रहे हैं। जिकी वजह से उद्यमी परेशान है। वहीं, बिजली (Electricity ) सप्लाई करने वाली कंपनी NPCL ने 5 गुना तक अधिक बिजली का बिल उद्यमियों को भेज दिया है। बिजली का बिल माफ कराने के लिए फेडरेशन ऑफ नोएडा इंडस्ट्रीज (Federation Of Noida Industries) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेटर भेजा है। Federation Of Noida Industries के पदाधिकारियों ने अप्रैल और मई(Aprail and may) माह का बिल माफ कराने की मांग की है। फेडरेशन के अध्यक्ष तरुण भारद्वाज ने बताया कि लॉकडाउन की वजह से कंपनी बंद होने के बाद भारी घाटा हुआ है।

वहीं, इंडियन इंडस्ट्रीज असोसिएशन (Indian Industries Association) के डिविजनल चेयरमैन विशारद गौतम ने बताया कि 50 KVA से अधिक क्षमता के ट्रांसफार्मर यूनिट(Transformer Unit) लगे हुए हैं। कंपनी ने इनकी खपत को भी उद्यमियों के बिल में जोड़ दिया है। इसकी वजह से छह गुना तक अधिक बिल आया हैं। उन्होंने बताया कि कंपनी बंद होने की वजह से Fix Charge माफ होने की उम्मीद थी।

Show More
virendra sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned