सीरिया: राष्ट्रपति चुनाव में चौथी बार बशर अल-असद की हुई जीत, भड़का अमरीका

सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल-असद को 26 मई को हुए चुनाव में एक करोड़ 42 लाख वोट मिले।

By: Mohit Saxena

Published: 28 May 2021, 03:01 PM IST

नई दिल्ली। सीरिया में बीते कई सालों से संघर्ष जारी है। युद्धग्रस्त क्षेत्र में एक बार फिर से राष्ट्रपति बशर अल-असद की चुनाव में जीत हुई है। वे चौथी बार राष्ट्रपति चुन लिए गए हैं। 26 मई को हुए चुनाव में बशर को एक करोड़ 42 लाख वोट मिले। इसे असद की बड़ी जीत माना जा रहा है।

Read More: जर्मनी में 12 वर्ष से ज्यादा उम्र वाले बच्चों को लगेगा कोरोना का टीका, सात जून से शुरू होगी बुकिंग

बशर अल-असद का एक बार दोबारा से अगले सात वर्षों तक के लिए राष्ट्रपति बने रहने का रास्‍ता साफ हो गया है। इस बीच पश्चिम देशों ने सीरिया के चुनाव को खारिज कर दिया है। उनका कहना है कि यह न तो स्‍वतंत्र तरीके से हुआ और न ही निष्‍पक्ष है।

जीत को पहले से ही तय मान रहे थे असद

विशेषज्ञों की माने तो असद अपनी जीत को पहले से ही तय मान रहे थे। इसका सबसे बड़ा कारण, यहां पर रह रहे हजारों विस्थापितों ने अपने मत का प्रयोग नहीं किया। दस साल से चल रहे संघर्ष से तबाह हुए क्षेत्र में मतदान नहीं हो सका। विद्रोहियों और कुर्द नेतृत्व वाले सैनिकों द्वारा नियंत्रित क्षेत्रों में रह रहे लोग मतदान से दूर रहे। वहीं 5 मिलियन से अधिक शरणार्थी,जिन्होंने पड़ोसी देशों में शरण ले रखी है। उन्होंने बड़े पैमाने पर अपना मत डालने से परहेज किया है।

चुनाव को पूरी तरह से खारिज किया

गौरतलब है कि सीरियाई सरकार के नियंत्रण मेें आने वाले क्षेत्रों में लोग बुधवार को राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव में वोट करने पहुंचे थे। हालांकि विपक्षी दलों और पश्चिमी देशों ने इस चुनाव को पूरी तरह से खारिज कर दिया है। पांच दशक से इस पद पर असद के परिवार के सदस्य काबिज हैं। उनके पहले पिता हाफेज का शासन था। अदस सन 2000 से सीरिया के राष्ट्रपति पद पर बने हुए हैं।

Read More: कोरोना वैक्सीन फाइजर को बदनाम करने की साजिश रच रहा रूस, जर्मनी और फ्रांस के यूट्यबर्स को दी लालच

असद के सामने दो और उम्मीदवार

राष्ट्रपति पद के लिए इस बार दो और उम्मीदवार उनके सामने थे। इनके नाम हैं अब्दुल्ला सालौम अब्दुल्ला और महमूद अहमद मैरी। सुबह सात बजे से हजारों की संख्या में लोग दश्मिक के मतदान केंद्रों पर वोट डालने पहुंचे। यहां की सड़कों पर असद के समर्थन में पोस्टर और बैनर नजर आए। इस बीच अन्य उम्मीदवारों का एकाध पोस्टर भी दिख जाता है।

मान्यता नहीं देंगे : बाइडेन

अमरीका के राष्ट्रपति बाइडेन का कहना है कि वह सीरिया में चुनाव के परिणाम को तब तक मान्यता नहीं देने वाले हैं जब तक संयुक्त राष्ट्र और सीरियाई समाज के सभी प्रतिनिधियों की निगरानी में निष्पक्ष मतदान नहीं हो जाता।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned