scriptPeople of Guna do not want time like 2021 | बोल रही जनता- फिर नहीं लौटकर आए वो मंजर, जिसे देखकर कांप उठती थी रूह | Patrika News

बोल रही जनता- फिर नहीं लौटकर आए वो मंजर, जिसे देखकर कांप उठती थी रूह

ऐसा समय भी लोगों की जिंदगी में आया था, जिसे देखकर ही लोगों रूह कांप उठती थी.

गुना

Updated: December 27, 2021 04:34:23 pm

गुना. हर बार बीता साल लोगों को कई अच्छी बुरी यादें देकर जाता था, ऐसे में हर कोई आनेवाले साल को सलाम और जानेवाले साल को भी सलाम करता था, लेकिन 2021 में ऐसा समय भी लोगों की जिंदगी में आया था, जिसे देखकर ही लोगों रूह कांप उठती थी, ऐसे में गुना जिले की जनता 2021 के वो दिन फिर से बिल्कुल नहीं देखना चाहती है।
2021.jpg
बोल रही जनता- फिर नहीं लौटकर आए वो मंजर, जिसे देखकर कांप उठती थी रूहहे भगवान! अप्रेल-मई जैसा मंजर दोबारा न आए
2020 के बाद वर्ष 2021 आया, सोचा कि यह साल अच्छा निकलेगा, लेकिन कोरोना संक्रमण ने हमारा पीछा नहीं छोड़ा। अप्रेल-मई में स्थिति यह हो गई थी कि गुना शहर के श्मशान घाटों पर लोगों को शव जलाने इंतजार करना पड़ता था। गुना की जनता तो उस मंजर को देखकर कहती है कि हे भगवान अप्रेल-मई माह जैसा मंजर कभी दोबारा न आए। ऑक्सीजन सिलेण्डर और गैस के लिए जमकर राजनीति भी हुई, इसका श्रेय लूटने में दल और नेता पीछे नहीं रहे।
co1_1.jpgअपने नहीं दे पाए अपनों का साथ
कोरोना संक्रमण काल का अप्रेल-मई माह के समय को हम याद करते हैं तो रूह कांप उठती है। जिला या निजी अस्पताल में कोरोना के शिकार मरीज के पास न होने से उसका ध्यान नहीं रख पा रहे थे। इसी बीच मरीज ने अपने प्राण त्याग दिए, न उनके परिजन अपने प्रिय को देख पाए और न मृत व्यक्ति अंतिम समय अपनों को न देख पाया और न कुछ कह पाया। इतना कुछ होने के बाद ऐसी स्थिति निर्मित हुई जब उनके दाह संस्कार में परिजन भी शामिल नहीं हो पाए।
co2_1.jpgआगे आए दानवीर
सबसे Óयादा ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर, ऑक्सीमीटर, कूलर, वाटर कूलर, दवाई जिला अस्पताल में उपलब्ध कराई। कई ने कोरोना वार्ड में पॉजीटिवों की मदद की।

co3_1.jpgनाश्ता-भोजन भी बांटने मेें कमी नहीं

रा जस्थान, महाराष्ट्र समेत दूसरे राÓयों से आने वाले लोगों को नाश्ता-भोजन उपलब्ध कराने में समाजसेवी पीछे नहीं रहे। प्रेमनारायण राठौर (भजन सेठ), राजेन्द्र सलूजा, रजनीश शर्मा,सीईओ राकेश शर्मा,काके सरदार,वंदना मांडरे, पुष्पराग शर्मा,प्रदेश सरकार के मंत्री महेन्द्र सिंह सिसौदिया, अरविन्द गुप्ता जैसे लोग भोजन उपलब्ध कराते रहे।
co4_1.jpgअस्पताल के हर वार्ड में संक्रमित
को रोना के मरीज मार्च के बाद बढ़ते चले गए, अप्रेल-मई माह मेें तो जिला अस्पताल की हालत ये हो गई थी कि जिला अस्पताल के हर वार्ड में कोरोना के मरीजों को भर्ती कराया गया। इस दौरान हमारे शहर, अंचल ने कई अपनों को खोया है, जिनकी याद करते ही उनके परिजन, रिश्तेदारों व मित्रों की आंखें नम हो जाती हैंं।
co5_1.jpgसड़कें बनी रहीं सूनी
कोरोना के बढ़ते प्रभाव से अप्रेल-मई माह में मरने वालों का ग्राफ बढ़ा तो गुना शहर में दहशत फैल गई और आवाजाही रोकने के लिए सड़कों पर बेरीकेट्स लगाकर रास्ते बंद किए। हनुमान चौराहा जैसे व्यस्ततम चौराहा सूना था। दुकानें बंद थीं।
जान जोखिम में डालकर देते रहे सेवाएं
कोरोना काल को याद किया जाए तो उनको अवश्य याद करेंंगे जिन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर कोविड वार्ड में मरीजों की सेवा की थी। मरीज और जिला अस्पताल को बेहतर सेवा और सामान दिलाने में तत्कालीन कलेक्टर एस. विश्वनाथन,कुमार पुरुषोत्तम, तत्कालीन एसपी तरुण नायक, राजेश कुमार सिंह, की अह्म भूमिका रही। विशेषज्ञों में डॉ. सुनील यादव, डा. रीतेश कांसल, डा. रामवीर सिंह रघुवशी, डा. वीरेन्द्र रघुवंशी, कोविड आईसीयू इंचार्ज नमिता खादिकर, उर्मिला मंडावी जैसे कई लोग रहे। जिन्होंने कई मरीजों की जान बचाई।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजBudget 2022: Work From Home वालों को मिल सकता है 50,000 रुपए तक का तोहफा!Parliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगापूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.