lok sabha election 2019 : युवाओं के हाथ में जीत की कुंजी, अकेली पर्ची से नहीं डाल पाएंगे वोट

lok sabha election 2019 : युवाओं के हाथ में जीत की कुंजी, अकेली पर्ची से नहीं डाल पाएंगे वोट

Amit Mishra | Publish: Mar, 17 2019 06:00:08 PM (IST) | Updated: Mar, 17 2019 06:00:09 PM (IST) Guna, Guna, Madhya Pradesh, India

18-29 साल के युवाओं की संख्या 2.67 लाख से अधिक

 

 

 

गुना@ मोहर सिंह लोधी की रिपोर्ट...
लोकसभा सीट गुना और राजगढ़ पर किसी भी प्रत्याशी की हार-जीत जिले के युवा मतदाता तय करेंगे। वजह यह है कि गुना की चार विधानसभा सीटों के 8.28 लाख मतदाताओं में से 2.67 लाख मतदाता 18 से 29 वर्ष के हैं। 18-39 वर्ष के मतदाताओं की संख्या और भी अधिक है। जो कुल मतदाताओं का 60 प्रतिशत के करीब है। यही वह वर्ग है जो चुनावों में सबसे ज्यादा बढ़-चढ़कर भाग लेता है। इस वर्ग को रिझाने हर पार्टी फोकस कर रही है।


युवा वर्ग जीत की कुंजी लेकर घूम रहा...
सांसद चुनने के लिए मतदाताओं के नाम जोड़े जा रहे हैं। 22 हजार युवाओं के नाम इसी साल जोड़े गए हैं, जो पहली बार मताधिकार का प्रयोग करेंगे। अब तक 8 लाख 28736 मतदाताओं के नाम जोड़े जा चुके हैं। इनमें गुना के 215514, बमोरी 200232, चांचौड़ा में 207401 और राघौगढ़ में 208589 मतदाता शामिल हैं। निर्वाचन कार्यालय की 22 फरवरी तक तैयार की गई वोटरों की सूची पर नजर डालें तो तो युवा वर्ग अपने हाथों में जीत की कुंजी लेकर घूम रहा है, जिसकी संख्या अन्य आयु वर्ग के मतदाताओं की संख्या से अधिक है।

 

10 दिन पहले फाइनल होगी लिस्ट
नए वोटरों के नाम जोडऩे और हटाने का काम चल रहा है। मतदान से ठीक 10 दिन पहले सूची फाइनल की जाएगी। 22 फरवरी से लेकर मतदान की तिथि से 10 दिन पहले तक वोटरों की संख्या बढ़ सकती है। साथ ही उनके वोटर आईडी बनाकर दिए जा रहे हैं। इस चुनाव में केवल पर्ची के आधार पर वोट नहीं डाल सकेंगे।

पर्ची से नहीं डाल पाएंगे वोट
चुनाव आयोग ने वोट डालने के लिए परिचय पत्र अनिवार्य कर दिया है। कोई मतदाता बिना परिचय पत्र के वोट नहीं डाल सकेगा। अब तक केवल पर्ची दिखाकर भी वोट डाला जा सकता था, लेकिन चुनाव आयोग ने इस पर रोक लगा लगा दी है। मतदाताओं को जागरुक करने के लिए निर्वाचन कार्यालय द्वारा कार्यक्रम किए जा रहे हैं। स्वीप प्लान के तहत वोटरों को वीवीपैट मशीन और ईवीएम से वोट करने की प्रक्रिया भी बताई जा रही है।

ये हैं परिचय पत्र
वोट डालने के लिए मतदाता 11 तरह के परिचय पत्रों में किसी एक परिचय पत्र को ले जाना अनिवार्य होगा। इनमें पासपोर्ट, ड्राइविंग लायसेंस, सेवा परिचय पत्र, फोटोग्राफ सहित पासबुक, पेनकार्ड, स्मार्ट कार्ड , मनरेगा जॉब कार्ड, हेल्थ इंश्योरेंस स्मार्टकार्ड, फोटो सहित पेंशन दस्तावेज, शासकीय परिचय पत्र और आधार कार्ड शामिल हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned